गन्ना भुगतान मामला: उत्तम शुगर मिल शेरमऊ के चेयरमैन, अध्यासी व लेखा प्रबन्धक के खिलाफ ईसीएक्ट में रिपोर्ट दर्ज

 
Shermau Sugar Mill
  • किसानों को गन्ना मूल्य भुगतान न करने पर योगी के तेवर देख प्रशासन हुआ सख्त
  • योगी आदित्यनाथ के गंगोह आगमन से पूर्व गन्ना विभाग ने उठाये सख्त कदम
  • 24 सिटी न्यूज़ ने प्रमुखता से उठाया था गन्ना भुगतान का मुद्दा

गंगोह-नकुड (सहारनपुर) [24 सिटी न्यूज़]: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आगमन से पूर्व गन्ना विभाग ने ठोस कदम उठाते हुए उत्तम शुगर मिल शेरमउ (Uttam Sugar Mill Shermau) के चैयरमैन, अध्यासी व प्रबन्धक लेखा के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराने को तहरीर दे दी गई है। जिलाधिकारी के आदेश पर उक्त मिल के जिम्मेदारान पर आवश्यक वस्तु अधिनियम के साथ ही शुगर फैक्ट्री लाईसैंस के उल्लघन के साथ ही किसानों के शोषण व उत्पीडन विश्वासघात कर उनका बकाया पैसा भुगतान न करने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है।

सहकारी गन्ना विकास समिति सरसावा के सचिव /प्रभारी औमवीर सिंह द्वारा जिलाधिकारी के आदेश के बाद गंगोह कोतवाली में दी गई तहरीर में कहा है कि शेरमउ शुगर मिल ने वर्ष 2019 में 83.2 लाख कुन्तल गन्ने की पेराई की थी। जिसका देय भुगतान 265.62 करोड रुपया बनता है। समापन 3 मई 19 के बाद भी नियमों को बलाए ताक रखकर किसानों को बकाया 81.88 करोड और समिति अंशदान 2.71 करोड का भुगतान नही किया जा रहा है। आयुक्त द्वारा 31 अगस्त 19 तक तमाम भुगतान किये जाने के निर्देश के बावजूद किसानों को उनका गन्ना मूल्य भुगतान न किया जाना यूपी वैक्यूम पैन शुगर फैक्ट्रीज लाईसैंसिंग 1969 की अनुसूची-1 की शर्त संख्या-4 का स्पष्ट उल्लंघन है और आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा के तहत जघन्य अपराध है, और किसानों के गन्ने का भुगतान न करना उनके साथ विश्वासघात है। जिससे किसानों में रोष व्याप्त है और शांतिभंग की आशंका के चलते मिल के चेयरमैन/एमडी राजकुमार अधलखा, अध्यासी अशोक कुमार अग्रवाल व एवं प्रबन्धक लेखा मदन कुमार चतुर्वेदी के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने की मांग की गई है।

इससे पूर्व जिला गन्ना विकास अधिकारी केएलएम त्रिपाठी ने जिलाधिकारी को वस्तुस्थिति से अवगत कराते हुए मिल मालिकान व मुख्य अधिकारियों के खिलाफ नियमानुसार कानूनी कार्यवाही करने के लिए दिशा निर्देश दिये जाने की अपील की थी। जिस पर जिलाधिकारी द्वारा स्वीकृति प्रदान करने के साथ ही किसान व जनहित में किसानों से ज्यादति करने और शासन प्रशासन के आदेशों की अवहेलना करने वाले उत्तम शुगर मिल के खिलाफ ठोस कानूनी कार्यवाही करते हुए कठोर धाराओं में नामजद रिपोर्ट दर्ज कराने को तहरीर दे दी गई है।

कोतवाली प्रभारी भगवत सिंह ने मिल के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने को तहरीर दिये जाने की पुष्टि करते हुए रिपोर्ट दर्ज किये जाने की जानकारी दी है।

 

किसानो के प्रदर्शन को रोकने के लिए की कार्यवाही

मुख्यमंत्री आगमन के दौरान गन्ना भुगतान नहीं होने से नाराज किसान मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाने और प्रदर्शन करने का विचार कर रहे थे। जिसका समाचार 24 सिटी न्यूज़ ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था। किसानो की नाराजगी दूर करने के लिए प्रशासन ने आनन-फानन में उत्तर शुगर मिल के विरुद्ध कार्यवाही करने का फैसला लिया।

 

यह भी पढ़े >> सीएम योगी के गंगोह आगमन की तैयारियों में जुटा प्रशासन, गन्ना किसान कर सकते विरोध प्रदर्शन

 
 
Top