मां-बाप के काम पर जाने के बाद रखना पड़ता था ध्यान, इसलिए बहन ने कर दी भाई की हत्या

 

हरिद्वार जिले में एक चौhaकाने वाला मामला सामने आया है। जिसके बाद हर किसी की जुबान पर यही बात है। यहां एक बहन ने अपने मासूम भाई को केवल इसलिए मौत के घाट उतार दिया, क्योंकि उसे उसका ध्यान रखना पड़ता था। आज सुबह पुलिस ने इस घटना का खुलासा किया। शुक्रवार की सुबह घर से गायब दो साल के मासूम पूरब की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई। पूरब की सगी नाबालिग बहन ने चचेरी बहन के साथ मिलकर मासूम की हत्या कर दी।

मां बाप के काम पर चले जाने के बाद मासूम भाई की परवरिश बहन को ही करनी पड़ती थी। जिससे परेशान होकर उसने अपने भाई की हत्या कर दी। पुलिस पूछताछ में आरोपी नाबालिग बहन ने बताया कि पहले उसने मासूम को दूध में नशीली गोलियां मिलाकर बेहोश किया और फिर गंगनहर में फेंक दिया।

शुक्रवार को संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गया था मासूम

ज्वालापुर क्षेत्र की लोधामंडी बस्ती में घर के अंदर सो रहा दो साल का मासूम शुक्रवार को संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गया था। पेशे से पंक्चर की दुकान चलाने वाला सोनू लोधामंडी में अपने परिवार के साथ रहता है। शुक्रवार की सुबह करीब पांच बजे जब उसकी पत्नी जमुना देवी की आंख खुली तब अपने दो साल के मासूम बेटे पूरब को गायब पाया।

महिला ने बेटे को गायब देखकर शोर मचाया। दंपती सीधे अपने परिचितों के साथ रेल चौकी पहुंचे। दो साल के मासूम के गायब होने की खबर मिलने पर पुलिस के होश फाख्ता हो गए। कोतवाली प्रभारी योगेश सिंह देव और रेल चौकी प्रभारी सुनील रावत घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस ने दंपती से पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली थी।

 
 

Related posts

Top