विपक्ष पर मंत्री सतीश द्विवेदी का पलटवार- विकास दुबे ने की सबसे ज्यादा ‘ब्राह्मणों’ की हत्या

 

गोरखपुरः एनकाउंटर में मारे गए अपराधी विकास दुबे की जाति को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। इस मामले को लेकर विपक्ष सरकार को निशाने पर ले रहा है, लेकिन मौजूदा सरकार के मंत्री भी पलटवार करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे। इसी कड़ी में गोरखपुर पहुंचे बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने विकास दुबे एनकाउंटर को लेकर विपक्ष पर जवाबी हमला किया।

मंत्री सतीश द्विवेदी ने कहा कि अपराधी की कोई जाति नहीं होती है, लेकिन वोट बैंक की राजनीति के लिए विपक्ष ओछी राजनीति कर रहा है। उन्होंने कहा कि विकास दुबे ने जितने लोगों की हत्या की उसमें से अधिकतर लोग ब्राह्मण ही थे, साथ ही कहा कि यदि वो ब्रह्मण नहीं होते तो भी विकास का अपराध कम नहीं हो जाता। एक अपराधी किसी की सहानुभूति का पात्र नहीं होता है। विकास दुबे के बहाने विपक्ष अपना उल्लू सीधा करना चाहता है।

उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर कई गैर ब्राह्मण भी ब्राह्मण बनकर या क्षत्रिय बनकर नफरत वाले पोस्ट डाल रहे हैं। वहीं अमर दुबे की नवविवाहिता पत्नी को लेकर कहा कि चूंकि वो अपराधी की पत्नी थी इसलिए पुलिस ने पूछताछ के लिए गिरफ्तार किया था। साथ ही कहा कि कानपुर के एसएसपी रहे अनंतदेव तिवारी को अभी पीएसी में भेजा गया है, जांच चल रही है अगर वो दोषी पाये जायेंगे तो उनपर भी सख्त कार्रवाई की जायेगी।

बेसिक शिक्षा मंत्री ने कहा कि थाने को थानेदार चला रहे हैं। सूबे में हो रहे विकास कार्य विपक्ष को अच्छे नहीं लग रहे हैं, इसलिए विकास दुबे जैसे अपराधियों के नाम पर जाति का खेल विपक्ष खेल रहा है, भाजपा सरकार गुंडागर्दी और भ्रष्टाचार को खत्म करने आयी थी, और जो भी प्रदेश की कानून व्यवस्था को चुनौती देगा उसका अंजाम विकास दुबे की तरह ही होगा। कानून व्यवस्था कायम करने के लिए जो जरूरी होगा वो किया जायेगा।

 
 

Related posts

Top