अनामिका शुक्ला के बाद सामने आया नया मामला, एक डिग्री पर नौकरी कर रहे दो शिक्षक, ऐसे हुआ खुलासा

 

बेसिक शिक्षा विभाग में अनामिका शुक्ला की तरह ही एक और मामला सामने आया है। एक डिग्री पर दो लोग शिक्षक की नौकरी कर रहे हैं। एक मुजफ्फरनगर के पुरकाजी ब्लॉक में तैनात है तो दूसरा बरेली जिले में। दोनों के कागजात का मिलान किया गया तो एक जैसे ही हैं। जनपद में तैनात शिक्षक नवंबर 2019 से नहीं आ रहा, तब से उसका वेतन भी जारी नहीं हुआ।

मानव संपदा पोर्टल पर शिक्षकों का डाटा फीडिंग के दौरान मामला पकड़ में आया है। प्रदीप कुमार सक्सेना के कागजात पर बरेली और मुजफ्फरनगर में दो लोग शिक्षक की नौकरी करते पाए गए। एक बरेली में तैनात है, जबकि दूसरे की तैनाती मुजफ्फरनगर के पुरकाजी ब्लॉक में है। दोनों की नियुक्ति 2011 में हुई है। दोनों के पिता का नाम आनंद बिहारी सक्सेना और जन्मतिथि नौ सितंबर 1981 दर्ज है, लेकिन फोटो अलग हैं। मुजफ्फरनगर में तैनात शिक्षक नवंबर 2019 से स्कूल नहीं आ रहा। उसके मूल कागजात भी बेसिक शिक्षा विभाग में ही जमा हैं। वह उन्हें लेने भी नहीं आया।

बीएसए रामसागर पति त्रिपाठी का कहना है कि शिक्षक की अनुपस्थिति के चलते उसे बरेली के पते पर नोटिस भेजा गया था, लेकिन वह पते पर नहीं मिला है। मामले में जांच की जा रही है।

हाथ से लिखे गए प्रमाणपत्र 
मुजफ्फरनगर में प्रदीप कुमार सक्सेना के नाम पर नौकरी कर रहे शिक्षक के मूल प्रमाण पत्र बेसिक शिक्षा विभाग में ही जमा हैं। उनकी जांच की गई तो सब हाथ से लिखे हुए हैं और हिंदी भाषा में है, जबकि बरेली में कार्यरत शिक्षक के कागजात कंप्यूटर से प्रिंट हैं और अंग्रेजी में हैं। हाथ से बने कागजात 2009 में जारी किए गए हैं। दोनों का अनुक्रमांक, प्रमाण पत्र क्रमांक और अंक एवं विषय आदि भी एक ही है।

 
 

Related posts

Top