मोदी सरकार 2024 तक बनाएगी 100 नए हवाई अड्डे, एक हजार हवाई रूट्स खोलने पर भी विचार

 

खास बातें

  • मोदी सरकार का 100 नए एयरपोर्ट बनाने का प्लान
  • केंद्र सरकार अर्थव्यवस्था को देना चाहती है गति
  • प्रस्ताव के मुताबिक, हर साल स्थानीय स्तर पर 600 पायलटों को दिया जाएगा प्रशिक्षण

पांच ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था का लक्ष्य पूरा करने की तरफ मोदी सरकार ने काम करना शुरू कर दिया है। ब्लूमबर्ग के सूत्रों के मुताबिक मोदी सरकार 2024 तक 100 नए एयरपोर्ट बनाने पर विचार कर रही है। सरकार के प्रस्ताव के मुताबिक एक हजार नए रूट्स शुरू करने पर भी विचार किया जा रहा है, ये रूट्स छोटे शहरों और गांवों को जोड़ेंगे।

विज्ञापन

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले सप्ताह हुई एक बैठक में 2025 तक जरूरी इन्फ्रास्ट्रक्चर की समीक्षा की गई। बैठक में शामिल एक अधिकारी ने नाम गोपनीय रखने की शर्त पर बताया कि देश में प्लेन लीज फाइनैंसिंग बिजनस को लेकर भी चर्चा की गई है।

नए एयरपोर्ट्स शुरू करने के साथ-साथ हर साल 600 पायलटों को स्थानीय स्तर पर प्रशिक्षित करने का प्रस्ताव पेश किया गया। इसके अलावा पांच सालों में विमान बेड़ों की संख्या दोगुनी कर 1200 तक पहुंचाने पर भी बात हुई।

अर्थव्यवस्था में इस समय सुस्ती दर्ज की जा रही है, इसलिए सरकार इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रॉजेक्ट्स के जरिए इसे गति देना चाहती है। सरकार ने पिछले महीने कॉर्पोरेट टैक्स में भी कटौती की है।

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट में बताया गया है कि, पड़ोसी देश चीन में भी एयरपोर्ट्स की संख्या तेजी से बढ़ रही है। चीन ने 2035 तक 450 कॉमर्शियल एयरपोर्ट्स का लक्ष्य रखा है, जो 2018 की संख्या के मुकाबले दोगुनी है। तीन साल पहले तक भारत में केवल 75 रनवे काम कर रहे थे। मोदी सरकार ने अबतक 38 एयरपोर्ट को देश के एविएशन मैप में जोड़ा है।

बता दें कि, पीएम नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त को लाल किले की प्राचीर से अपनी सरकार के लिए लक्ष्य निर्धारित करते हुए 2025 तक भारत को पांच ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी बनाने का दावा किया था।

संसद में जब वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश किया था तो उन्होंने देश के सामने पांच ट्रिलियन अर्थव्यवस्था का लक्ष्य रखा था। प्रधानमंत्री ने भी कहा था कि यदि हम सब मिलकर काम करेंगे तो यह लक्ष्य हासिल किया जा सकता है।

 
 

Related posts

Top