राजवाहे की पटरी टूटने से खेतो में भरा पानी लाखों रूपये गन्ने की फसल नष्ट

राजवाहे की पटरी टूटने से खेतो में भरा पानी लाखों रूपये गन्ने की फसल नष्ट
  • राजबाहे की टूटी पटरी, तथा पानी के कारण नष्ट हुई गन्ने की फसल

देवबंद [24CN]: राजबाहे की पटरी टूटने से सैकडों बीघा खेतो में पानी भर गया जिससे लाखों रूपये की गन्ने की फसल नष्ट हो गई। ग्रामीणों ने अपने ही गांव कुछ लोगों पर साजिश के तहत राजबाहे की पटरी काटने का आरोप लगाते हुए घटना की जांच कराये जाने तथा नष्ट हुई फसल का मुआवजा दिलाए जाने की मांग की है।

क्षेत्र के गांव रणसूरा के निकट से गुजरने वाले राजबाहे की पटरी विगत रात्रि अचानक टूट गई। जिससे उसके आसपास स्थित सैकडों बीघा गन्ने के खेत पानी से लबालब भर गये। सोमवार को अल सुबह सूचना मिलने पर गांव रणसूरा के प्रदीप, मनोज, सहित कई किसान मौके पर पहुंच गये और अपने खेतो में खडी गन्ने की फसल पानी के कारण नष्ट होते देख उनके पांव तले से जमीन खिसक गई। किसानो ने सूचना देकर राजबाहे का पानी तो बंद करा दिया लेकिन राजबाहे में बचा हुआ पानी लगातार खेतो में भर रहा है।

गांव के प्रदीप त्यागी व दीपक त्यागी ने बताया कि यह पहली बार नही है कि जब राजबाहे की पटरी टूटी है इससे पहले भी कई बार इस तरह की घटनाऐं हो चुकी है और जल भराव के कारण किसानो को नष्ट हुई फसलों से लाखों रूपये की चूना लग चूका है। उन्होने बताया कि वास्तव में रंजिश के चलते गांव के ही कुछ लोग पटरी को काट देते है जिससे राजबाहे का पानी खेता में भर जाता है। उन्होने बताया कि राजबाहे का पानी खेतो में भर जाने से इस बार लगभग चार लाख रूपये की गन्ने की फसल का नुकसान प्रदीप व मनोज सहित अन्य किसानो को हुआ है। उन्होने प्रशासन से साजिश करने वाले लोगों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही किए जाने और प्रशासन से नष्ट हुई फसल का मुआवजा दिए जाने की मांग की है।


पत्रकार अप्लाई करे Apply