लखनऊः पीजीआई में वीवीआईपी सुविधा के लिए कनिका का हंगामा, डॉक्टर और स्टाफ के साथ अभद्रता का आरोप

 

लखनऊ समेत कई शहरों के लोगों को करोना वायरस की चपेट में लाने वाली कनिका कपूर ने पीजीआई के स्टाफ से वीवीआईपी सुविधा के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया है। उसने आरोप लगाया कि वार्ड में उन्हें बेहतर सुविधाएं नहीं दी जा रही हैं।

वहीं पीजीआई निदेशक डॉ. आरके धीमान बताते हैं कि कनिका वीवीआईपी सुविधाओं के लिए स्टाफ  पर दबाव बना रही हैं। आरोप है कि डॉक्टर व स्टाफ  के साथ अभद्रता कर रही हैं। उन्होंने  बताया कि कनिका को पीजीआई में विशेष रूप से भोजन तैयार करके दिया जा रहा है।

डाइट ग्लूटेन फ्री दिया जा रहा है। साथ ही आइसोलेशन से जुड़ी बेहतर सुविधाएं दी जा रही हैं। कमरे के वेंटिंलेशन के लिए हैंडलिंग यूनिट लगी है।

कोरोना संक्रमित गायिका कनिका कपूर के शहर आने के बाद हड़कंप मचा है। कनिका जहां आई थीं, वहां से संबंधित 37 लोगों के सैंपल जांच के लिए किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) लखनऊ भेजे गए। केजीएमयू के सूत्रों के मुताबिक अभी छह सैंपल की निगेटिव रिपोर्ट आई है।

बाकी सैंपल की रिपोर्ट आज आएगी। इसके अलावा कुछ अन्य लोगों के भी सैंपल जांच के लिए केजीएमयू भेजे गए हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कनिका कपूर के संपर्क में आने वाले मुख्य लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिए थे। इसके अलावा घर के किचन में काम करने वाली महिला और दूसरे लोगों ने शनिवार को जीएसवीएम मेडिकल कालेज के संक्रामक रोग अस्पताल (आईडीएच) में जाकर अपनी जांच कराई।

बॉलीवुड सिंगर कनिका कपूर की कानपुर वाली पार्टी में शहर के कुछ ऐसे भी लोग शामिल थे, जो अपना नाम बताना नहीं चाहते हैं। लेकिन वे यह जानना चाहते हैं कि कोरोना का टेस्ट कैसे कराया जा सकता है।

कनिका के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर ये लोग परेशान हो गए हैं। ऐसे कई लोगों की तरफ से अमर उजाला कार्यालय फोन करके जानकारी मांगी गई।

 
 

Related posts

Top