केएलएफ के तीन आतंकियों से पूछताछ में खुलासा, पाक के गांव में दी जाती है 15 दिन की ट्रेनिंग

 

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई का एजेंट अब्दुल्ला आतंकी संगठन आईएस, खालिस्तान लिब्रेशन फ्रंट (केएलएफ) और दक्षिण भारत के आईएसआईएस मॉड्यूल के आतंकियों का हैंडलर है। केएलएफ के हाल ही में गिरफ्तार तीन आतंकियों से पूछताछ में ये बात सामने आई है।

पूछताछ में यह भी सामने आया है कि गिरफ्तार आतंकी गुरतेज, लवप्रीत व मोहिंदर पाल सिंह हैंडलर अब्दुल्ला के संपर्क में थे। गुरतेज ही वाट्सएप से कॉल कर ज्यादा बात करता था। आतंकियों ने खुलासा किया कि अब्दुल्ला तरनतारन बॉर्डर के पास स्थित पाकिस्तान के एक गांव का रहने वाला है। वह इनसे कहता था कि केएलएफ समर्थकों को पाकिस्तान ट्रेनिंग के लिए भेजो। वह अपने गांव के पास स्थित पहाड़ियों पर ही आतंकियों को 15 दिन की हथियार चलाने की ट्रेनिंग देता था। इसके बाद वह उन्हें खाली हाथ वापस भेज देता। इन्हें हथियार व पैसे बाद में किसी और चैनल से भिजवाए जाते थे।
सभी आतंकियों ने लिया अब्दुल्ला का नाम 

स्पेशल सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि उन्होंने आईएस के आतंकी व जम्मू कश्मीर के रहने वाले जहांजेब समी व उसकी पत्नी हिना को दिल्ली के जामिया नगर से मार्च महीने में गिरफ्तार किया था। उनसे पूछताछ में पता चला था कि वे आईएसआई के संपर्क में थे और इनका हैंडलर भी पाकिस्तान में बैठा अब्दुल्ला ही था। आईएस के दक्षिण भारत के मॉड्यूल के छह आतंकी गिरफ्तार हुए थे। इनका हैंडलर भी अब्दुल्ला था। ऐसे में खुफिया एजेंसी के अधिकारियों का कहना है कि हो सकता है यह अब्दुल्ला एक ही व्यक्ति हो। गिरफ्तार आतंकियों ने जिस तरह खुलासा किया था कि उससे लगता है कि आईएसआई ने अब्दुल्ला को भारत में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने का जिम्मा सौंपा हुआ है।

14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया 
स्पेशल सेल ने तीनों आतंकियों गुरतेज, लवप्रीत व मोहिंदर पाल सिंह को सोमवार को कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने तीनों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

Content retrieved from: https://www.amarujala.com/delhi-ncr/three-terrorists-of-klf-revealed-in-interrogation-15-days-training-given-to-terrorists-in-pakistan.

 
 

Related posts

Top