अगस्त में पीएम मोदी करेंगे जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास, तारीख का ऐलान जल्द

अगस्त में पीएम मोदी करेंगे जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास, तारीख का ऐलान जल्द
  • 15 अगस्त से 30 अगस्त के बीच जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास प्रस्तावित हो सकता है. ‘नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट’ के नाम से बनने वाले इस एयरपोर्ट का निर्माण और संचालन यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड एयरपोर्ट करेगा. 

नोएडा: यमुना एक्सप्रेस वे के किनारे जेवर में बनने वाले इंटरनेशनल एयरपोर्ट का अगले महीने शिलान्यास किया जाएगगा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस एयरपोर्ट का शिलान्यास करेंगे. जानकारी के मुताबिक पीएमओ को इसके लिए जानकारी भेजी गई है. तारीखों पर जल्द सहमति बनने की संभावना है. माना जा रहा है कि 15 अगस्त से 30 अगस्त के बीच जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास प्रस्तावित हो सकता है. ‘नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के नाम से बनने वाले इस एयरपोर्ट का निर्माण और संचालन यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड एयरपोर्ट करेगा.

ये करनी कर रही है निर्माण
नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए ग्लोबल टेंडर के माध्यम से सबसे अधिक प्रति पैसेंजर प्रीमियम की बोली 400.97 रुपए लगाने वाली कंपनी ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी को विकास कर्ता के रूप में चयनित भी किया जा चुका है. इस एयरपोर्ट को भारत सरकार की हाई स्पीड रेल लाइन से भी जोड़े जाने की योजना है, जो दिल्ली से होते हुए नोएडा, जेवर, मथुरा, आगरा, इटावा, कन्नौज, लखनऊ, प्रयागराज और वाराणसी तक पहुंचेगी. हाई स्पीड रेल की कुल लंबाई 816 किलोमीटर है जो औसतन करीब 300 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी. 2023 में जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की शुरुआत किए जाने का लक्ष्य रखा गया है.

मई में गृह मंत्रालय से मिली थी सुरक्षा मंजूरी
एयरपोर्ट के निर्माण का ठेका ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी को दिया गया है. इसे इस साल मई में जेवर में नोएडा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे को विकसित करने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय से सुरक्षा मंजूरी प्राप्त हुई थी.

फिल्म सिटी से एयरपोर्ट तक चलेगी पॉड टैक्सी 
नोएडा स्थित फिल्म सिटी से जेवर एयरपोर्ट के बीच पॉड टैक्सी (Pod Taxi) चलाई जाएगी. यह देश की पहली पॉड टैक्सी होगी. बता दें कि पॉड टैक्सी 4 से 6 सीटर ऑटोमेटिक गाड़ी है, जिसे बिना ड्राइवर और कंडक्टर के चलाया जाता है. पॉड टैक्सी को मेट्रो के मुकाबले ज्यादा किफायती माना जाता है, साथ ही इसमें दुर्घटना की संभावना भी नहीं के बराबर होती है. प्रदूषण के एंगल से भी ये सही है, क्योंकि ये बैटरी से चलती है. फिल्म सिटी से जेवर एयरपोर्ट तक चलने वाली पॉड टैक्सी का यह कॉरिडोर सेक्टरों को भी जोड़ेगा. इस कॉरिडोर का डीपीआर तैयार हो गया है, जिसकी लंबाई 14.6 किलोमीटर है. इस प्रोजेक्ट पर 862 करोड़ रुपये खर्च होंगे. डबल ट्रैक वाली पॉड टैक्सी के कॉरिडोर को पूरा करने में एक वर्ष का समय लगेगा. देश की पहली पॉड टैक्सी नोएडा एयरपोर्ट से फिल्म सिटी के बीच चलेगी.

इंडियन पोर्ट रेल एंड रोपवे कार्पोरेशन लिमिटेड ने नोएडा एयरपोर्ट से फिल्म सिटी तक 14 किलोमीटर के बीच चलने वाली ड्राइवरलेस पॉड टैक्सी के लिए फाइनल डीपीआर यमुना अथॉरिटी (Yamuna Authority) में पेश कर दिया है. इस डीपीआर को अब यीडा (YIEDA) बोर्ड के सामने रखा जाएगा, वहां से मंजूरी मिलने के बाद इसको सरकार को भेजा जाएगा. सरकार से मंजूरी मिलने के बाद इस दिशा में काम आगे बढ़ेगा. यीडा के सेक्टर 21, 28, 29, 32 व 33 होते हुए नोएडा एयरपोर्ट से फिल्म सिटी के बीच पॉड टैक्सी चलेगी. इसका हर सेक्टर में स्टॉप निर्धारित किया गया है, ताकि दुनिया के किसी कोने से नोएडा एयरपोर्ट आने वाले लोग/ यात्री किसी भी सेक्टर में अपने हिसाब से उतर सके.

उत्तर प्रदेश विभाग के नागरिक उड्डयन विभाग में नोएडा में बन रहे नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पहले चरण के निर्माण के लिए 1334 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण कर लिया है. यह जमीन हवाईअड्डा परियोजना के लिए एनआईएएल को लीज पर दी जा रही है. उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से जारी किए गए बयान में कहा गया, ‘‘नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के विकास के लिए कैबिनेट ने अधिग्रहित 1,334 हेक्टेयर भूमि पर स्टांप शुल्क और पंजीकरण शुल्क माफ करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है.”


पत्रकार अप्लाई करे Apply