अनुच्छेद 370 से बौखलाया पाक जंग को तैयार, लद्दाख के नजदीक तैनात किए लड़ाकू विमान

 

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के विवादित प्रावधानों को खत्म किए जाने से नाराज पाकिस्तान अब युद्ध जैसी तैयारियां कर रहा है। अंतरराष्ट्रीय समुदाय से समर्थन न मिलने के बाद पाकिस्तानी प्रधानमंत्री और सेना जम्मू-कश्मीर में शांति भंग करने की कोशिशों में लग गए हैं।

पाकिस्तान ने गिलगित बाल्टिस्तान में स्थित स्कर्दू हवाई अड्डे पर अपने जेएफ-17 युद्ध विमानों को तैनात कर दिया है। यह हवाई अड्डा लद्दाख के नजदीक है। भारतीय खुफिया एजेंसियां पाकिस्तानी सेना की इन गतिविधियों पर कड़ी नजर बनाए हुए हैं।

सूत्रों के अनुसार, तनाव के बीच पाकिस्तानी सेना लद्दाख के नजदीक स्थित अपनी अग्रिम चौकियों पर भारी हथियार और सैन्य साजो-सामान को एकत्रित कर रही है। शनिवार को पाकिस्तानी वायुसेना के तीन सी-130 हरक्यूलस परिवहन विमानों ने सैन्य साजो-सामान को गिलगित बाल्टिस्तान में स्कर्दू हवाई अड्डे पर पहुंचाया।

सूत्रों के अनुसार, पाकिस्तान ने अग्रिम मोर्चे पर जो साजो-सामानों पहुंचाया है उसका उपयोग युद्ध के दौरान लड़ाकू विमानों की सहायता के लिए किया जाता है।

भारतीय थलसेना और वायुसेना भी तैयार

पाकिस्तान द्वारा किसी भी संभावित खतरे को देखते हुए भारतीय सेना और वायुसेना भी पूरी तरह से तैयार है। भारत की खुफिया एजेंसियां पाकिस्तान  की हर हरकत पर नजर बनाए हुए हैं। सीमा पर सुरक्षा को भी बढ़ा दिया गया है। सेना, वायुसेना और नौसेना अपनी ताकत में लगातार इजाफा कर रही हैं। इस बाबत रक्षा खरीदारियों में भी तेजी देखी जा रही है।

हाल में ही सेना ने पाक के बैट (बॉर्डर एक्शन टीम) के पांच से सात घुसपैठियों को ढेर कर दिया था। ये सभी भारत में किसी बड़े आतंकी हमले की फिराक में सीमा को पार करने की कोशिश कर रहे थे।

पाक ने तीन नौसैनिक बंदरगाहों को कराया

सैटेलाइट की तस्वीरों से पता चला है कि पाकिस्तान ने कराची, ओरमारा और ग्वादर नौसैनिक बंदरगाहों को खाली करवा दिया है। विशेषज्ञ इसे किसी गड़बड़ी से जोड़कर देख रहे हैं। सैटेलाइट तस्वीरें ओपन-सोर्स इंटेलिजेंस से भेजी गई हैं। जिन्हें @detresfa नाम के यूजर ने अपने अकाउंट से साझा किया है।

तस्वीर के अनुसार ओरमारा बंदरगाह में मौजूद जिन्ना नौसेना बेस और ग्वादर बंदरगाह पूरी तरह से खाली करवा दिए गए हैं। कराची के नौसेनिक डॉक पर केवल तीन जहाज खड़े हैं। जबकि अनुच्छेद 370 हटने से पहले की सैटेलाइट तस्वीरों में दिख रहा था कि यहां पर बड़ी संख्या में जहाज खड़े थे।

चार अगस्त की एक सैटेलाइट तस्वीर में रावलपिंडी के चकलाला का नूर खान वायुसेना बेस कैंप पूरी तरह से खाली दिख रहा है। वहीं 19 जून को ली गई यहां की तस्वीर में सबकुछ सामान्य दिखाई दे रहा है। पांच अगस्त के बाद से पाक अधिकृत कश्मीर में वीआईपी उड़ानों की गतिविधियां तेज हो गई हैं। बीते पिछले चार दिनों में यहां चार फ्लाइट्स आ चुकी हैं। एक सैटेलाइट तस्वीर में एक वीवीआईपी गल्फस्ट्रीम विमान पीओके की तरफ नजर आ रहा है।

 

 

 
 

Related posts

Top