असम में अमित शाह का दावा- BJP और AGP दो-तिहाई बहुमत के साथ असम में अगली सरकार बनाएंगे

असम में अमित शाह का दावा- BJP और AGP दो-तिहाई बहुमत के साथ असम में अगली सरकार बनाएंगे

गुवाहाटी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह असम में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर गुरुवार सुबह गुवाहाटी पहुंचे। असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल, उनके कैबिनेट सहयोगी डॉ हिमंत बिस्वा सरमा, राज्य भाजपा अध्यक्ष रंजीत कुमार दास ने गुवाहाटी में लोकप्रिया गोपीनाथ बोरदोलोई इंटरनेशनल (एलजीबीआई) एयरपोर्ट, बोरझार में केंद्रीय गृह मंत्री का स्वागत किया।

Updates:

-गृह मंत्री अमित शाह ने दावा किया कि भाजपा और AGP दो-तिहाई बहुमत के साथ असम में अगली सरकार बनाएंगे।

-शाह बोले- कांग्रेस को जीत दिलाने के लिए भाजपा के वोटों में कटौती करने के लिए आंदोलनकारी अलग-अलग नामों से जोर आजमाइश कर रहे हैं। उनका उद्देश्य कांग्रेस को जीत दिलाना है। हर कोई जानता है कि वे सरकार नहीं बना सकते हैं, वे खुद जानते हैं लेकिन यह दुखद है कि वे कांग्रेस को जीतने के लिए भाजपा के वोट शेयर को कम करने की कोशिश कर रहे हैं।

-नागांव में संबोधन के दौरान शाह ने कहा, ‘कांग्रेस के पास एक प्रणाली है, जो केवल चुनाव के दृष्टिकोण से देखते हैं। वे दिल्ली की गलियों में घूमते रहते हैं, उन्हें चुनाव के दौरान ही देखा जाता है और उन्होंने फिर से ऐसा किया है। कुछ अनोखा अब देखा जा रहा है, कांग्रेस ने असम आंदोलन के दौरान असम के युवाओं पर गोलियां चलाई थीं।’

-शाह ने असम के नागांव में कहा- पीएम मोदी के नेतृत्व में, असम में ही नहीं, पूरे उत्तर-पूर्व में एक नया विकास शुरू हुआ। एक समय था जब असम आंदोलन और हिंसा के लिए जाना जाता था। पीएम मोदी ने असम में प्रतिष्ठा लाने के लिए सब कुछ किया। भूपेन हजारिका को भारत रत्न से सम्मानित किया गया। कांग्रेस नेता तरुण गोगोई ने भी महान योगदान दिया था। उन्हें पीएम नरेंद्र मोदी के शासन में पद्म भूषण दिया गया।

-केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह असम के नागांव में बोले- हमें असम को बाढ़-मुक्त, घुसपैठ-मुक्त और हिंसा-मुक्त बनाना है। हमें असम और पूरे पूर्वोत्तर को देश का सबसे बड़ा जीडीपी योगदानकर्ता बनाना है।

-गृह मंत्री ने कहा, ‘असम जो आंदोलन, हथियार और हिंसा के लिए जाना जाता था, अब विकास, औद्योगिक निवेश, शिक्षा और पर्यटन के लिए जाना जाता है। लेकिन यह यात्रा अधूरी है। यह पीएम मोदी के नेतृत्व में सीएम और हिमंत बिस्वा सरमा द्वारा शुरू किए गए विकास के नए युग का पहला पड़ाव है।’

-केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने नागांव में महा मृत्युंजय मंदिर में ‘प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव’ में भाग लिया। मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और राज्य मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा भी उपस्थित रहे।

अमित शाह का कार्यक्रम 

अपने कार्यक्रम के अनुसार, शाह सुबह लगभग 10.30 बजे मध्य असम के नागांव जिले के पूरानीगुडम में महा मृत्युंजय मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव में शामिल होंगे और वह भगवान शिव के मंदिर में ‘यज्ञ’ करेंगे।

अमित शाह नागांव जिले के बटद्रवा मठ का भी दौरा करेंगे और वह समाज सुधारक और नव वैष्णव महापुरुष श्रीमंत शंकरदत्त के जन्मस्थान बटद्रवा थान के सुंदरीकरण परियोजना का शिलान्यास भी करेंगे। 188 करोड़ रुपये की लागत वाली यह परियोजना कला, संस्कृति और अध्यात्म के केंद्र के रूप में बटद्रवा थान के विकास को पर्यटकों के आकर्षण के स्थान में बदल देगी।

केंद्रीय गृह मंत्री सुबह करीब साढ़े 11 बजे बटद्रवा प्रकल्प में एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे। बाद में, वह लगभग 2 बजे कार्बी आंग्लोंग जिले के नूरक अकलाम मैदान, डेंगांव में एक विशाल जनसभा को संबोधित करेंगे।

केंद्रीय गृह मंत्री असम राज्य भाजपा कोर कमेटी के सदस्यों से भी मिलेंगे और राज्य में विधानसभा चुनावों से पहले पार्टी की चुनावी तैयारियों का जायजा लेंगे। इससे पहले, केंद्रीय गृह मंत्री ने 25 जनवरी को चुनावी राज्य का दौरा किया था और नलबारी जिले में एक सार्वजनिक रैली ’विजय संकल्प समरोह’ को संबोधित किया था। बता दें कि भाजपा ने राज्य में आगामी विधानसभा चुनावों के लिए ‘मिशन 100 प्लस’ का लक्ष्य रखा है। राज्य में इस वर्ष अप्रैल-मई में चुनाव निर्धारित हैं।

यह भी पढे >>इतिहास रचने से एक कदम दूर राष्‍ट्रपति बाइडन, अपनी ही पार्टी ने खड़ी की बाधाएं, (24city.news)


पत्रकार अप्लाई करे Apply