ब्लड शुगर टेस्ट स्ट्रिप सस्ते में प्राप्त करे
Dr. Morepen BG-03 Blood Glucose Test Strips, 50 Strips (Black/White)

सर्वदलीय बैठक के बाद अरविंद केजरीवाल का बड़ा फैसला- मास्क न पहनने पर देना होगा 2000 रुपये फाइन

 
delhi cm arvind kejriwal

नई दिल्ली । दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में चल रही सर्वदलीय बैठक समाप्त हो चुकी है। बैठक में भाजपा और कांग्रेस ने अपनी-अपनी बात रखी है। छठ को लेकर सर्वदलीय बैठक में दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष चौ.अनिल कुमार ने केजरीवाल को एक पत्र सौंपा है। इसमें उन्होंने आग्रह किया है कि छठ पूजा के लिए छूट के मुद्देन पर वह दिल्ली हाई कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर करे।

बृहस्पतिवार को हुई इस बैठक में सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण पर काबू पाने के लिए कड़े कदम उठाने को लेकर सभी दलों के नेताओं से चर्चा कर की। इस सर्वदलीय बैठक में भाजपा, कांग्रेस समेत सभी पार्टियों के नेता शामिल हुए हैं। बताया जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के नेता बैठक में मुखर होकर अपनी बात रख रहे हैं।

वहीं, कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई की कड़ी में बुधवार को राजधानी दिल्ली में शादी समारोह के आयोजन में मेहमानों की संख्या फिर सीमित कर दी गई है। उपराज्यपाल अनिल बैजल की मंजूरी के बाद राजधानी दिल्ली में शादी समारोह में 200 लोगों की जगह सिर्फ 50 लोग ही शामिल हो सकेंगे। वहीं, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सरकार ने शादी समारोह में 200 लोगों के शामिल होने के पूर्व में दी गई अनुमति को निरस्त कर दिया है।

शादी समारोह में मेहमानों की संख्या सीमित करने का विरोध

वहीं, दूसरी भारतीय जनता पार्टी ने शादी समारोह में मेहमानों की संख्या 200 से 50 तक सीमित करने का विरोध किया है। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने उपराज्यपाल अनिल बैजल को पत्र लिखा है। इसमें कहा है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने महामारी की रोकथाम को लेकर विचार विमर्श के लिए बृहस्पतिवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई है। इसके बाद ही इस संबंध में फैसला लिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा था कि सर्वदलीय बैठक में वह मुख्यमंत्री के समक्ष बाजारों को बंद करने, शादी समारोह में मेहमानों की संख्या सीमित करने के साथ ही सार्वजनिक छठ पूजा पर रोक का मुद्दा उठाएंगे।

 
 

Related posts

Top