मुंबई में कोरोना से सील हुईं 45% इमारतें रिलीज

 

 

  • कोरोना मरीज पाए जाने के कारण मुंबई में सील की गई थीं 10,369 इमारतें
  • कोरोना मरीज ठीक होने से उनमें से 4,710 यानी 45 प्रतिशत इमारतों को किया गया रिलीज
  • मुंबई में बनाए गए 1,293 कंटेनमेंट जोन में से 871 ही ऐक्टिव रह गए हैं, 422 हुए रिलीज

मुंबई
कोरोना मरीज पाए जाने के कारण मुंबई में 10,369 इमारतें सील की गई थीं। कोरोना मरीज ठीक होने से उनमें से 4,710 यानी 45 प्रतिशत इमारतों को रिलीज कर दिया गया है। कोरोना मरीजों के कारण अब 5,659 यानी 55 प्रतिशत बिल्डिंगें ही सील हैं।

बीएमसी के अनुसार, के/ वेस्ट वॉर्ड के अंतर्गत अंधेरी पश्चिम, वर्सोवा इलाके में सबसे ज्यादा 516 इमारतें अब तक रिलीज हो चुकी हैं। यहां अब केवल 230 इमारतें सील हैं। इमारतों की सील हटने के मामले में बोरिवली दूसरे नंबर पर है। यहां सबसे ज्यादा 935 इमारतें सील हुई थीं, जिनमें से 476 इमारतों को रिलीज किया जा चुका है। सायन, माटुंगा, वडाला एरिया में सील हुईं 584 इमारतों में से 52 इमारतें रिलीज हुई हैं। मुलुंड एरिया में सबसे कम 23 इमारतें रिलीज हुई हैं। यहां अब भी 454 बिल्डिंगें सील हैं। अंधेरी पूर्व में सबसे ज्यादा 587 सील बिल्डिंगें हैं। यहां 86 इमारतों की सील हट चुकी है।

अब केवल 871 कंटेनमेंट जोन
मुंबई में बनाए गए 1,293 कंटेनमेंट जोन में से 871 ही ऐक्टिव रह गए हैं, जबकि 422 को रिलीज कर दिया गया है। एल वॉर्ड के अंतर्गत कुर्ला, साकीनाका एरिया में सबसे ज्यादा 328 कंटेनमेंट जोन थे, जिनमें से 216 को रिलीज किया जा चुका है। सबसे कम 58 कंटेनमेंट जोन मलबार हिल, महालक्ष्मी और रेसकोर्स एरिया में थे। बता दें कि बीएमसी कमिश्नर बनने के बाद आई.एस. चहल ने कंटेनमेंट जोन की परिभाषा बदल दी। इसके तहत चॉल और स्लम एरिया को ही कंटेनमेंट जोन घोषित किया जा रहा है। इमारत में कोरोना मरीज पाए जाने पर इमारत को सिर्फ सील किया जा रहा है।

टेस्टिंग में मुंबई नंबर दो
देश में सबसे ज्यादा कोरोना टेस्टिंग मामले में मुंबई दूसरे नंबर पर है। दस लाख की आबादी पर सर्वाधिक 24,799 कोरोना टेस्ट तमिलनाडु में हो रहे हैं। मुंबई में इतनी आबादी पर 21,766 के टेस्ट हो रहे हैं। मुंबई में अब तक 2,83,119 लोगों का कोरोना टेस्ट हुआ है। उनमें से 64,068 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

मुंबई में कोरोना केसों का बढ़ना रुका, अब होंगे कम
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, मुंबई में पिछले कई दिनों से कोरोना वायरस के नए केस स्थिर हैं। अब मामलों में अचानक बढ़ोतरी नहीं हो रही है। विशेषज्ञों के अनुसार, नए मामलों में स्थिरता आने की अगली कड़ी में नए मामलों की संख्या में गिरावट होती है।

बीएमसी स्वास्थ्य विभाग से मिले आंकड़ों के अनुसार, 7 जून को महानगर में कोरोना वायरस के 1,421 मामले दर्ज हुए थे। ये 20 जून को घटकर 1,197 हो गए। इन 13 दिनों में कोरोना वायरस के नए मामले औसतन 1,100 से 1,300 के बीच देखने को मिले हैं। बीएमसी स्वास्थ्य विभाग के अडिशनल म्युनिसिपल कमिश्नर सुरेश काकानी ने कहा, ‘पिछले 13 दिनों के आकंड़ों के आधार पर मुंबई में वायरस को स्थिर माना जा सकता है। आने वाले समय मे जल्द ही मामलों में कमी दिख सकती है।’

 
 

Related posts

Top