कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई के लिए PM CARES Fund से दिए जाएंगे 3100 करोड़ रुपये

 

 

  • 3100 करोड़ में से 2 हजार करोड़ रुपये वेंटिलेटर खरीद के लिए इस्तेमाल किए जाएंगे
  • वेंटिलेटर्स को कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे राज्यों को दिया जाएगा।
  • 1 हजार करोड़ रुपये का इस्तेमाल प्रवासी मजदूरों के कल्याण के लिए किया जाएगा
  • फंड से जारी होने वाले 100 करोड़ रुपये वैक्सीन के डिवलेपमेंट पर खर्च किए जाएंगे

नई दिल्ली
प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की ओर से बुधवार को कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में पीएम केयर फंड (PM CARES Fund) से 3100 करोड़ रुपये दिए जाने की घोषणा की गई है। पीएमओ की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि 3100 करोड़ में से 2 हजार करोड़ रुपये वेंटिलेटर खरीद के लिए इस्तेमाल किए जाएंगे। वहीं, 1 हजार करोड़ रुपये का इस्तेमाल प्रवासी मजदूरों के कल्याण के लिए किया जाएगा और 100 करोड़ रुपये वैक्सीन के डिवलेपमेंट पर खर्च किए जाएंगे।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते 27 मार्च को कोरोना वायरस के मामले सामने आने के बाद देश में पीएम केयर फंड की शुरुआत की थी और लोगों से फंड में दान करने की अपील की थी। इस फंड के अन्य पदेन सदस्य रक्षा मंत्री, गृह मंत्री और वित्त मंत्री हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार देश को संबोधित किया था और 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की घोषणा की थी।

खरीदे जाएंदे 50 हजार वेंटिलेटर
देश में COVID-19 मामलों से निपटने के लिए बुनियादी ढांचे को बढ़ाने के लिए भारत में तैयार 50 हजार वेंटिलेटर करीब 2 हजार रुपये की लागत से खरीदे जाएंगे। इन वेंटिलेटर को कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे राज्यों को दिया जाएगा। इसके अलावा कोरोना वायरस के कारण अपना रोजगार खोने वाले प्रवासियों के उत्थान में करीब 1 हजार करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

देश में विकसित की जाएगी वैक्सीन
कोविड-19 (COVID-19) की रोकथाम के लिए वैक्सीन विकसित करने पर भी सरकार जोर दे रही है। पीएमओ से मिली जानकारी के अनुसार, वैक्सीन बनाने के लिए 100 करोड़ रुपये पीएम केयर फंड से खर्च किेए जाएंगे। वैक्सीन बनाने की दिशा में सरकार ने प्रयास शुरू कर दिए हैं।

 
 

Related posts

Top