3 साल के कबीर की मुरीद हुई मुंबई पुलिस, कमिश्नर बोले- सच में मासूम ने दिल जीत लिया

 

मुंबई  कोरोना के खिलाफ हर कोई अपने-अपने तरीके से लड़ रहा है और लोगों की मदद कर रहा है। ऐसे में एक तीन साल का बच्चा भी मुंबई पुलिस की मदद के लिए आगे आया है। तीन साल का कबीर अपने मात-पिता के साथ पुलिस मुख्यालय पहुंचा और कमिश्नर को 50 हजार रुपए का चैक सौंपा। कबीर ने यह 50 हजार रुपए कोरोना संकट में भी मुस्तैदी से अपनी ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों के लिए मुंबई पुलिस फाउंडेशन को दान किए है। दरअसल कबीर ने यह पैसे अपने कपकेक बेचकर जुटाए हैं।

कबीर ने इन पैसों के चैक के साथ एक पर्ची भी सौंपी, जिस पर लिखा हुआ था- ‘डियर पुलिस अंकल, हमारी देखभाल करने के लिए शुक्रिया। प्लीज, कोरोना वायरस को पकड़िए और उसे अपनी गन से शूट कर दीजिए। मैं अपने नाना और मेरे दोस्तों से मिलने जाना चाहता हूं। आप इस पैसे का इस्तेमाल दवाएं और लॉलीपॉप खरीदने में कर सकते हैं। लव, लव कबीर।’ कबीर ने अपनी मां की मदद से कपकेक बनाया था जिसे बेचकर उसे जो पैसे मिले वो उसने मुंबई पुलिस फाउंडेशन को दान कर दिए। मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह नन्हे कबीर के इस सहयोग से बेहद प्रवाभित हुए। उन्होंने कहा कि छोटे से बच्चे और उसके माता-पिता की यह पहल सच में प्रभावित करने वाली है और इनके प्रयास ने दिल जीत लिया।

पुलिस कमिश्नर ने कहा कि ऐसे मोटिवेशन से लोगों की सुरक्षा करने का हमारा संकल्प और मजबूत होता है। कबीर के पिता केशव ने बताया कि उन लोगों को यह आइडिया लंदन में रहने वाले एक दोस्त से मिला। केशव ने बताया कि हमने कपकेक बनाकर अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को भेजा और कबीर की पहल के बारे में बताया कि वो पुलिस की मदद करना चाहता हैं। ऐसे अगर किसी की इच्चा हो तो वे इस कप केक के लिए जितना हो सके उतनी कीमत दे सकता है। केशव ने बताया कि केक बेचकर उनके पास तकरीबन 25 हजार रुपए जुटे थे और बाकी के पैसे अपने पास से डालकर 50 हजार रुपए मुंबई पुलिस फाउंडेशन को दान किए। केशव ने कहा कि उनकी पूरी कोशिश होगी कि वो अगली बार एक लाख रुपए डोनेट करें।

 
 

Related posts

Top