आजमगढ़: CAA के खिलाफ धरना दे रही महिलाओं ने किया पथराव, पुलिस का लाठीचार्ज

 
azamgarh

आजमगढ़: आजमगढ़ के बिलरियागंज कस्बे के मौलाना जौहर अली पार्क में सीएए, एनआरसी व एनपीए का विरोध कर रही महिलाओं द्वारा बुधवार तड़के सुरक्षा में तैनात पुलिस के जवानों पर पथराव कर दिया। पथराव में एसपी सिटी पंकज पांडेय भी घायल हो गए। बचाव में पुलिस की ओर से लाठीचार्ज कर महिलाओं को खदेड़ दिया और आंसू गैस के गोले भी दागे गए। पुलिस ने पार्क में टैंकर मंगाकर पानी भर दिया है। पार्क के आसपास भारी फोर्स तैनात कर दी गई है। किसी को उधर जाने नहीं दिया जा रहा है।

बताते चलें कि गोपालपुर के सपा विधायक नफीस अहमद ने भी मंगलवार रात साढ़े 10 बजे पहुंचकर उन्हें समझाया, लेकिन धरना खत्म नहीं हो सका। बाद में बुधवार को तड़के चार बजे महिलाओं की ओर से सुरक्षा में तैनात पुलिस वालों पर पथराव किया गया। इसके बाद पुलिस ने लाठी लाठीचार्ज कर महिलाओं को खदेड़ दिया और आंसू गैस के गोले भी दागे। पुलिस ने पार्क में टैंकर मंगाकर पानी भर दिया। पार्क के आसपास भारी फोर्स तैनात कर दी गई है। किसी को उस ओर जाने नहीं दिया जा रहा है।

इस धरना-प्रदर्शन की न तो पूर्व की कोई घोषणा ही थी, न ही अनुमति लिया गया था। पुलिस और जिला प्रशासन को ऐसे किसी आयोजन की जानकारी ही नहीं थी। मंगलवार को 11 बजे के लगभग मौलाना जौहर अली पार्क में सैकड़ों की संख्या में महिलाएं तिरंगा झंडा लेकर पहुंच गई। इसके बाद मौके पर धरना-प्रदर्शन व नारेबाजी शुरू हो गई। धरना-प्रदर्शन की जानकारी होते ही बिलरियागंज पुलिस के हाथ पांव फूल गये। पुलिस टीम भी मौके पर पहुंच गई और धरना समाप्त कराने की कवायद शुरू कर दी गई।

मंगलवार की शाम पांच बजे के लगभग मौलाना ताहिर मदनी व पूर्व चेयरमैन मोहम्मद आरिफ भी मौके पर पहुंच गए थे। इन लोगों ने भी महिलाओं को समझाने का प्रयास किया लेकिन महिलाओं का कहना था कि जब तक दिल्ली के शाहीन बाग में धरना चलेगा तब तक वे भी धरना देती रहेंगी।

मंगलवार की देर शाम एडीएम प्रशासन नरेंद्र सिंह, एसपी सिटी पंकज पांडेय के साथ ही महिला थानाध्यक्ष आदि भी पहुंच गईं। रात 10 बजे गोपालपुर से सपा विधायक नफीस अहमद भी मौके पर पहुंचे और समझाया, लेकिन धरना खत्म नहीं हुआ।

 

यह भी पढ़े >> श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट बनाएगा राम मंदिर, लोकसभा में पीएम मोदी ने की घोषणा

 
 
Top