लद्दाख सीमा पर हिंसक झड़पः भारतीय सेना ने भी चीन को दिया मुंहतोड़ जवाब, 5 चीनी सैनिक मरे?

 

 

  • लद्दाख की गलवान घाटी में भारत-चीन के बीच हिंसक झड़प
  • इस हिंसा में भारत के तीन सैनिक शहीद हुए, चीन को भी नुकसान की खबर
  • चीन के 5 जवान मारे जाने की खबर, स्ट्रैचर पर उन्हें लेकर जाता देखा गया
  • बॉर्डर पर चीन ने पत्थर और डंडों से हमला किया, कोई गोली नहीं चली

नई दिल्ली
लद्दाख बॉर्डर पर भारत और चीन के बीच हिंसक झड़प (india china clash today) में एक कमांडिंग ऑफिसर समेत 3 जवान शहीद हुए हैं, लेकिन ऐसी खबरें हैं कि भारतीय जवानों ने भी चीनियों को मुंहतोड़ जवाब दिया है। सेना ने अपने संशोधित बयान में चीन को नुकसान होने का इशारा किया है। अपुष्ट रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन के कम से कम पांच जवान मारे गए हैं। बताया जा रहा है कि इस झड़प में 11 चीनी जवान घायल हुए हैं। उन्हें स्ट्रेचर पर चीनी सीमा में ले जाया गया। हालांकि अभी तक चीन की ओर से इस पर कोई बयान नहीं आया है। चीनी सरकार के मुखपत्र माने जाने वाले ग्लोबल टाइम्स ने भी चीनी सेना को हुए नुकसान पर चुप्पी साधी हुई है।

भारतीय सेना ने कही सिर्फ नुकसान की बात
फिलहाल चीन की तरफ कितना नुकसान हुआ है इसपर भारतीय सेना ने ज्यादा कुछ नहीं कहा। बस इतना कहा गया है कि नुकसान दोनों तरफ हुआ है। इससे पहले भारतीय सेना ने बताया था कि बॉर्डर पर चीनी घुसपैठ को रोकने के दौरान तीन जवान शहीद हुए। इसमें एक अधिकारी के अलावा दो जवान शामिल हैं।

चीनी सैनिकों ने चलाए पत्थर, लाठी
मिली जानकारी के मुताबिक, बॉर्डर पर चीनी सैनिकों ने गोली तो नहीं चलाई लेकिन लाठी-डंडों, पत्थर से हमला किया था।

लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार रात चीनी सैनिकों के साथ ‘हिंसक टकराव’ के दौरान भारतीय सेना का एक अधिकारी और तीन जवान शहीद हो गए। भारत और चीन की सेना के वरिष्ठ अधिकारी लद्दाख में तनाव कम करने के लिये बैठक कर रहे हैं। बीते पांच हफ्तों से गलवान घाटी में बड़ी संख्या में भारतीय और चीनी सैनिक आमने-सामने खड़े थे। यह घटना भारतीय सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे के उस बयान के कुछ दिन बाद हुई है, जिसमें उन्होंने कहा था कि दोनों देशों के सैनिक गलवान घाटी से पीछे हट रहे हैं।

 

 

 
 

Related posts

Top