कोरोना और टीबी दोनों से बचने के लिए बरतें सावधानी

  • अधूरा इलाज कराने से ठीक नहीं होता टीबी का रोग
  • घबराए नहीं, नियमित दवा लेने से दूर होगी टीबी, कोरोना से बचने के लिए मास्क का प्रयोग जरूर करें

सहारनपुर [24CN] । वर्तमान समय में कोविड-19 और टीबी जैसे घातक रोग से खुद को बचाना जरूरी है। उसके लिए मास्क का प्रयोग जरूर करें। सोशल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइजर के जरिए कोविड जैसे रोग से बचा जा सकता है। मास्क का प्रयोग सिर्फ कोविड से सुरक्षा नहीं करता है, बल्कि यह टीबी से भी बचाता है । खांसने-छींकने और खुले में थूकने से कोविड और टीबी का रोग फैलता है। परिवार के लोग भी मास्क का इस्तेमाल करें तो बीमारी फैलने की आशंका समाप्त हो जाती है।

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉक्टर राजेश जैन ने बताया कि किसी भी संक्रमण को रोकने के लिए मास्क का उपयोग जरूरी है। मास्क कोविड से ही सुरक्षा नहीं करता है, बल्कि यह टीबी (क्षय रोग) से भी बचाता है। इसलिए कोविड और टीबी से बचाव के लिए बरतें जरूरी सावधानी। मास्क का प्रयोग जरूर करें….. डा. जैन ने कहा कि टीबी का प्रसार रोकने में मास्क बेहद कारगर है। कोविड के टीके के प्रति संपूर्ण प्रतिरक्षण के बाद भी भीड़भाड़ वाले स्थानों पर मास्क का इस्तेमाल सेहत की दृष्टी से अच्छा व्यवहार होगा। उन्होंने बताया अगर किसी के घर में टीबी का मरीज है तो रोगी के अलावा पूरे परिवार को मास्क का इस्तेमाल करना चाहिए। मुख्यत: फेफडे वाली टीबी का मरीज ही संक्रमण को फैलता है।

जिला क्षय रोग अधिकारी ने बताया कि जैसे शासन के आदेश पर ओपीडी सेवा को बंद किया गया है इस संबंध में जनपद में वर्तमान में चल रहे टीबी मरीज उपचार, दवा अथवा इलाज संबंधी किसी भी समस्या या परेशानी के संबंध में जिला कार्यक्रम समन्वयक से सम्पर्क करके अपनी समस्या का टेलिफोनिक हल कर सकते हैं उनकी पूरी तरह से मदद की जाएगी और निकटतम सरकारी स्वास्थ्य केंद्र से उन्हें इलाज व उपचार उपलब्ध कराया जाएगा।

मास्क का प्रयोग जरूर करें-मास्क को कभी भी बाहर की तरफ से इस्तेमाल के बाद न छुएं।-सर्जिकल मास्क एक बार से ज्यादा प्रयोग न करें।-कपड़े के मास्क को अच्छी तरह से धोने के बाद ही इस्तेमाल करें। -अकेले रहने पर मास्क लगाने की आवश्यकता नहीं है।-मास्क को कभी उल्टा इस्तेमाल न करें।

टीबी के लक्षण…..तीन सप्ताह से अधिक खांसी, बुखार जो खासतौर पर शाम को बढ़ता है। छाती में दर्द, वजन का घटना, भूख में कमी आना, बलगम के साथ खून आना, फेफड़े का इन्फेक्शन और सांस लेने में दिक्कत टीबी के लक्षण हो सकते हैं।टीबी से बचाव….टीबी से बचाव के लिए बच्चों को जन्म से एक माह के अंदर टीबी का टीका लगवाएं। खांसते समय मुंह पर रूमाल रखें। रोगी जगह-जगह न थूके इसके साथ ही अल्कोहल का प्रयोग और धूम्रपान न करें। बीमारी होने पर पूरा इलाज कराने से बीमारी ठीक हो जाती है।


पत्रकार अप्लाई करे Apply