खुलासा: दोस्त निकले हिस्ट्रीशीटर के कातिल, ये रही हत्या की बड़ी वजह, दो आरोपी गिरफ्तार

 

बागपत में खेकड़ा कस्बे के हिस्ट्रीशीटर विनय उर्फ बुडढ़ा की हत्या लूट के मोबाइल को लेकर पांच दोस्तों ने की थी। पुलिस ने दो युवकों को गिरफ्तार कर घटना का खुलासा कर दिया। हिस्ट्रीशीटर की पीट-पीटकर हत्या की गई थी। तीन आरोपी अभी फरार हैं। पुलिस उनकी तलाश में लगी है।

एएसपी अनिल कुमार सिंह ने बताया कि खेकड़ा की रामपुर पट्टी निवासी सुधीर पुत्र जय कुमार ने 20 अक्तूबर को सूचना दी थी कि 19 अक्तूबर को उसके भाई विनय उर्फ बुडढ़ा (42) का पांच बदमाश अपहरण कर ले गए हैं। उसने सोनू पुत्र दयाचंद त्यागी, सचिन त्यागी पुत्र भूषण त्यागी निवासी बड़ागांव, चिंटू पुत्र महेश, जूली पुत्र सोमपाल निवासी खेकड़ा और अन्य अज्ञात के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। विनय उर्फ बुडढ़ा खेकड़ा थाने का हिस्ट्रीशीटर था।

गत 21 अक्तूबर को मुरादनगर पुलिस को हिंडन नदी में एक शव मिला था। सोशल मीडिया पर शव के फोटो वायरल होने पर खेकड़ा थानाध्यक्ष अजय शर्मा ने मुरादनगर पुलिस से संपर्क किया। परिजनों ने मुरादनगर थाने पहुंचकर शव की शनाख्त विनय उर्फ बुडढ़ा के रूप में की। शुक्रवार को खेकड़ा पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर आरोपी चिंटू त्यागी निवासी बड़ागांव, अंकित पुत्र महेंद्र निवासी खेकड़ा को गिरफ्तार किया। दोनों ने हिस्ट्रीशीटर की हत्या का जुर्म स्वीकार किया।

 
 

Related posts

Top