तिहाड़ में बंद कैदी ने मोबाइल से किया वीडियो वायरल, अफसरों पर लगाए गंभीर आरोप

 

 

  • तिहाड़ की जेल नंबर-1 में बंद एक कैदी ने वीडियो वायरल करके जेल के उच्‍चाधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए हैं
  • इस कैदी ने जेल के एक स्‍टाप पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह उससे जेल में मोबाइल ले जाने का काम करवाता है
  • कैदी ने आशंका जताई है कि इस खुलासे के लिए उसे जेल के अंदर जान से मारा भी जा सकता है

नई दिल्ली
मंडोली और रोहिणी जेल के बाद तिहाड़ जेल से भी एक कैदी ने मोबाइल से विडियो बनाकर वायरल किया है। विडियो में कैदी कह रहा है कि वह तिहाड़ की जेल नंबर-1 में बंद है। उसने जेल के एक अफसर पर मोबाइल अंदर ले जाने के साथ ही तिहाड़ जेल हेडक्वार्टर के आला अफसरों पर पैसा पहुंचाने के गंभीर आरोप भी लगाए गए हैं। कैदी का कहना है कि यह बात बताने के लिए उसे जेल के अंदर जान से मारा भी जा सकता है।

कैदी ने विडियो में जेल नंबर-1 के एक स्टाफ पर आरोप लगाते हुए कहा है कि वह उससे जेल के अंदर मोबाइल ले जाने का काम करावाता है। पिछले दिनों जेल में पांच मोबाइल पकड़े गए थे। उसकी विजिलेंस जांच चल रही है। कैदी ने आरोप लगाया कि इस जांच में उस पर यह दबाव डाला जा रहा है कि वह यह कबूल करे कि वही सारे मोबाइल जेल के अंदर ले गया था। वरना, तिहाड़ हेडक्वार्टर की टीम को भी वह अपने पक्ष में कर लेंगे।

कैदी ने दिखाए तीन और मोबाइल
विचाराधीन कैदी इस विडियो में अपने पास रखे तीन और मोबाइल भी दिखाता है। इससे जाहिर है कि तिहाड़ जैसी सुरक्षित जेल में भी मोबाइल कितनी आसानी से पहुंच रहे हैं। इससे पहले रोहिणी और मंडोली जेल से भी कैदियों ने अलग-अलग मामलों में मोबाइल से विडियो बनाए हैं।

डीजी ने आरोपों से किया इनकार
तिहाड़ जेल के डीजी संदीप गोयल का कहना है कि यह सही है कि यह विडियो जेल नंबर-1 का है। उन्होंने बताया कि जिस विचाराधीन कैदी ने यह विडियो बनाया है। वह लूट और अन्य मामलों में बंद है। इससे पहले भी वह कई बार जेल आ-जा चुका है। डीजी ने कैदी के आरोपों को निराधार बताते हुए कहा है कि तमाम मामलों की जांच की जा रही है। कुछ समय पहले सीसीटीवी फुटेज में यह कैदी मोबाइल फेंकने की कोशिश करते हुए दिखा था। डीजी ने कहा है कि मोबाइल को बरामद करने के लिए छानबीन की जा रही है। एक फोन मिला है और बाकी की तलाश की जा रही है।

 
 

Related posts

Top