ब्लड शुगर टेस्ट स्ट्रिप सस्ते में प्राप्त करे
Dr. Morepen BG-03 Blood Glucose Test Strips, 50 Strips (Black/White)

पासवान के निधन पर राष्‍ट्रपति समेत दिग्‍गज हस्तियों ने जताया शोक, प्रधानमंत्री बोले- नहीं भरी जा सकेगी यह रिक्‍तता

 
Ramvilas

नई दिल्‍ली [24CN]। लोक जनशक्ति पार्टी के वरिष्‍ठ नेता एवं केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान  का गुरुवार को अस्‍पताल में निधन हो गया। वे बीते काफी समय से बीमार थे। हाल ही में उनकी बायपास सर्जरी हुई थी। बेटे चिराग पासवान ने ट्वीट करके उनके निधन की जानकारी दी। उन्‍होंने लिखा, पापा… अब आप इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन मुझे पता है आप जहां भी हैं हमेशा मेरे साथ हैं। सियासी हस्तियों ने पासवान के निधन पर शोक संवेदना जताते हुए इसे अपूर्णीय क्षति बताया है…

देश ने दूरदर्शी नेता खोया : राष्‍ट्रपति 

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, ‘केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन से देश ने एक दूरदर्शी नेता खो दिया है। उनकी गणना सर्वाधिक सक्रिय और सबसे लंबे समय तक जनसेवा करने वाले सांसदों में की जाती है। वे वंचित वर्गों की आवाज मुखर करने वाले तथा हाशिए के लोगों के लिए सतत संघर्षरत रहने वाले जनसेवक थे। आपातकाल विरोधी आंदोलन के दौरान जयप्रकाश नारायण जैसे दिग्गजों से लोकसेवा की सीख लेने वाले पासवान जी  फायरब्रांड समाजवादी के रूप मे उभरे। उनका जनता के साथ गहरा जुड़ाव था और वे जनहित के लिए सदा तत्पर रहे। उनके परिवार और समर्थकों के प्रति मेरी गहन शोक-संवेदना।’

कभी नहीं भरी जा सकेगी यह रिक्‍तता : प्रधानमंत्री 

प्रधानमंत्री मोदी ने पासवान के निधन पर कहा कि इस दुख को शब्‍दों में बयां नहीं किया जा सकता है। पासवान जी का निधन मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है। देश की सियासत में इस रिक्‍तता को कभी नहीं भरा जा सकेगा। मैंने एक दोस्त, मूल्यवान सहयोगी को खो दिया है। पासवान हर गरीब को यह सुनिश्चित करने के लिए उत्‍सुक थे कि वह गरिमामय जीवन बसर करे। प्रधानमंत्री ने कहा कि राम विलास पासवान जी ने दृढ़ संकल्प के साथ से राजनीति में कदम रखा था। एक युवा नेता के रूप में उन्होंने आपातकाल के दौरान अत्याचार और लोकतंत्र पर हमले का विरोध किया था। वह एक उत्कृष्ट सांसद और मंत्री थे जिन्होंने विभिन्‍न नीतिगत क्षेत्रों में बहुमूल्‍य योगदान दिया।

सबके प्रिय थे पासवान : शाह 

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, सदैव गरीब और वंचित वर्ग के कल्याण और अधिकारों के लिए संघर्ष करने वाले हम सबके प्रिय राम विलास पासवान जी के निधन से मन अत्यंत व्यथित है। उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन में हमेशा राष्ट्रहित और जनकल्याण को सर्वोपरि रखा। उनके स्वर्गवास से भारतीय राजनीति में एक शून्य उत्पन्न हो गया है। चाहे साल 1975 के आपातकाल के विरुद्ध संघर्ष करना हो या मोदी सरकार में कोरोना महामारी में गरीब कल्याण के मंत्र को सार्थक करना हो, राम विलास पासवान जी ने इन सभी में अद्वितीय भूमिका निभाई है। कई महत्वपूर्ण पदों पर कार्यरत रहते हुए, पासवान जी अपने सरल और सौम्य व्यक्तित्व से सबके प्रिय रहे।

गरीबों, वंचितों, दलितों की आवाज उठाई : तेजस्वी यादव 

राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि रामविलास पासवान जी का निधन एक बेहद ही दुखद समाचार है। उन्होंने जिंदगी भर गरीबों की, वंचितों की, शोषितों की, दलितों की आवाज उठाई है और उत्थान की बात कही है। हमारे पिता से उनके बहुत अच्छे संबंध रहे हैं। हम लोग एक परिवार के रूप में रहे हैं।

बिहार की राजनीति के लिए बड़ा नुकसान : राबड़ी देवी 

बिहार की पूर्व मुख्‍यमंत्री एवं राजद नेता राबड़ी देवी ने कहा, रामविलास पासवान जी के निधन से बहुत दुःखी हूं। दशकों से उनके साथ पारिवारिक संबंध रहा। ईश्वर उन्हें शांति प्रदान करे और उनके परिवार को यह दुख सहने की शक्ति दे। पासवान जी का निधन बिहार की राजनीति के लिए बड़ा नुकसान है, लोग दुखी हैं। पूरा राजद दुखी है कि एक बड़ा नेता हमें छोड़कर चला गया।

गरीब और दलित वर्ग ने बुलंद आवाज खो दी : राहुल  

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा, रामविलास पासवान जी के असमय निधन का समाचार दुखद है। गरीब और दलित वर्ग ने आज अपनी एक बुलंद राजनैतिक आवाज खो दी। उनके परिवारजनों को मेरी संवेदनाएं।

मिट्टी से जुड़े नेता थे पासवान : राजनाथ 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान जी का निधन मेरे लिए अत्यंत पीड़ादायक है। अपने लम्बे राजनीतिक जीवन में उन्होंने हमेशा गरीबों, दलितों एवं वंचितों के कल्याण के लिए काम किया। उनकी गिनती बिहार की मिट्टी से जुड़े कद्दावर नेताओं में थी और उनके सभी दलों के साथ अच्छे संबंध थे। रामविलासजी के निधन से बिहार राज्य और राष्ट्रीय राजनीति में भी बड़ी रिक्तता पैदा हो गई है। उनके साथ मेरी बहुत अच्छी मित्रता थी। उनका निधन मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है। इस दुःख की घड़ी में ईश्वर उनके परिवार एवं समर्थकों को संबल प्रदान करें। ॐ शान्ति!

गरीबों की चिंता करने वाले नेता : जेपी नड्डा 

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि रामविलास जी गरीबों की चिंता करने वाले, समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति की चिंता करने वाले नेता थे। वे चाहे किसी भी सरकार में मंत्री रहे हों, सभी पार्टियों के साथ बराबर की दोस्ती, सभी को साथ लेकर चलना, समाज के प्रति समर्पण के साथ उन्होंने जीवन बिताया।

गरीबों और दलितों के उत्थान के लिए काम किया : आडवाणी

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि पासवान जी एक जमीनी नेता थे जिन्होंने गरीबों और दलितों के उत्थान के लिए काम किया। उनका लोगों से जुड़े रहना उनकी सबसे बड़ी ताकत थी। वह वाजपेयी सरकार में मेरे प्रमुख सहयोगी के रूप में रहे, जिन्होंने गरीबों और दलितों के उत्थान के लिए बहुत ईमानदारी से काम किया। पासवान सच्चे अर्थों में जमीनी नेता थे। उनका निधन राष्ट्र के लिए बहुत बड़ी क्षति है।

सामाजिक न्याय के लिए खड़े रहे : सोनिया गांधी 

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रामविलास पासवान के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि वह हमेशा सामाजिक एवं राजनीतिक भागीदारी के मकसद पर जोर देने के लिए याद किए जाएंगे। पासवान जी के निधन से बहुत दुख हुआ है। वह कद्दावर व्यक्तित्व थे जो जीवन भर वंचित तबकों के सशक्तीकरण और सामाजिक न्याय के मकसद के लिए खड़े रहे। वह हमेशा सामाजिक एवं राजनीतिक भागीदारी के मकसद पर जोर देने के लिए याद किए जाएंगे।

देश ने एक सच्चा सपूत खोया : रविशंकर प्रसाद 

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा… रामविलास पासवान जी को मेरी बहुत विनम्र श्रद्धांजलि है। देश ने अपना एक सच्चा सपूत खो दिया है। आज मैं याद करना चाहता हूं 1977 में जब आपातकाल के बाद लोकसभा का चुनाव हुआ था तब रामविलास पासवान जी पांच लाख से ज्‍यादा मतों से जीते थे।

जीवनभर दलितों के लिए लड़े : जावड़ेकर

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि रामविलास पासवान जी का निधन एक बेहद ही दुखद समाचार है। वो जिंदगी भर दलित, पिछड़े सभी समूहों के लिए लड़ते थे। मंत्रीमंडल में वो बहुत सक्रिय रहते थे। प्रधानमंत्री मोदी जी पर उनका बहुत विश्वास था।

खलेगी पासवान की कमी : प्रधान

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, यकीन नहीं हो रहा है कि रामविलास पासवान जी हमारे बीच नहीं रहे। ये बेहद दुखद सूचना है। वे भारत के गरीब, वंचित, शोषित, दलित की नुमाइंदगी करने वाले थे। न केवल बिहार में, पूरे देश में उनकी रिक्तता सभी को खलेगी… वहीं केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि रामविलास पासवान जी इस देश के बड़े ही लोकप्रिय नेता और गरीबों के मसीहा के रूप में थे। उनका निधन एक अपूरणीय क्षति है। भगवान उनके परिवार को इस दुख के समय में सहनशक्ति प्रदान करे।

प्रियंका वाड्रा समेत दिग्‍गज कांग्रेस नेताओं ने जताया दुख 

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि रामविलास पासवान जी के परिवार के साथ हमारा एक निजी रिश्ता था। उनके निधन की सूचना से बेहद दुःख हुआ है। चिराग जी और उनके परिवार के समस्त सदस्यों को मेरी गहरी संवेदना। इस दुखद घड़ी में हम आपके साथ हैं। वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने चिराग पासवान के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए कहा कि चिराग, आपके पिता के निधन की खबर सुनकर स्तब्ध हूं। रामविलास पासवान जी कमजोर वर्ग के लोगों के हितों के बड़े पैरोकार थे। उनका निधन देश के लिए बहुत बड़ी क्षति है। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पासवान जी कमजोर वर्ग के लोगों के उत्थान के लिए प्रतिबद्ध थे। उनके जाने से एक ऐसा शून्य पैदा हुआ जिसे भरना मुश्किल है।

 
 

Related posts

Top