स्थानांतरण की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे मेडिकल छात्र

 
medical student on strike सहारनपुर में स्थानांतरण की मांग को लेकर धरना देते एमबीबीएस के छात्र।

सहारनपुर। ग्लोकल मेडिकल कालेज के एमबीबीएस छात्रों ने अपने स्थानांतरण की मांग को लेकर जिला मुख्यालय पर अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया तथा एमबीबीएस के छात्रों का अन्य मेडिकल कालेज में स्थानांतरण होने तक अपना धरना जारी रखने की घोषणा की।

ग्लोकल मेडिकल कालेज के एमबीबीएस के छात्र एकत्र होकर जिला मुख्यालय पहुंचे तथा स्थानांतरण की मांग को लेकर नारेबाजी करते हुए धरने पर बैठ गए। धरने को सम्बोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि उन्होंने पिछले पांच महीने में जिला प्रशासन से लेकर सरकार तक से अपने किसी अन्य कालेज में स्थानांतरण की गुहार लगा चुके हैं लेकिन उनकी समस्या का किसी भी स्तर पर कोई समाधान नहीं किया गया है।

उनका कहना था कि ढाई साल की पढ़ाई करने के बाद अब हम किसी अन्य कालेज में नहीं लग सकते। यदि सरकार ने उनकी समस्या का समाधान नहीं किया तो धरना क्रमिक अनशन से बदलकर आमरण अनशन तक में बदल जाएगा। उनका कहना था कि अब या तो हम अपना जायज अधिकार लेकर उठेंगे या सरकार सब छात्रों के मृत शरीर लेकर जाएगी।

उनका कहना था कि सब छात्र नीट की परीक्षा पास करने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित काउंसिलिंग से इस कालेज में भेजे गए थे परंतु एक साल बाद ही केंद्र सरकार की एजेंसी मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा इस कालेज में नए छात्रों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई थी जो अब लगातार तीन सालों से जारी है। इसका मतलब यह है कि सरकार ने एक कालेज को मान्यता दी। उसने वहां छात्र भेजे और उसने उसकी मान्यता रद्द कर दी।

छात्रों का कहना था कि सरकार ने कालेज को जारी किए गए एसेंसियल सर्टिफिकेट में यह लिखकर दिया है कि ऐसी स्थिति में सरकार इन छात्रों को किसी अन्य कालेज में स्थानांतरित कर देगी। इसके बावजूद भी उनका स्थानांतरण नहीं किया गया है जिस वजह से वह अनिश्चितकालीन धरने पर बैठने को मजबूर हैं।

धरने में नेहा, इकरा, वृतिका, मोहित, अर्पित, उवैश, शहजाद, सायान, संध्या, मनुश्री, पंखुरी, उमर, जिशान, लारिब, सतिओम, फिरोज, शाहरूख के अलावा उनके परिजन भी मौजूद रहे।

 

 
 
Top