महाराष्ट्र ATS का खुलासा: मुंबई धारावी के आतंकी का डी-कंपनी से लिंक

महाराष्ट्र ATS का खुलासा: मुंबई धारावी के आतंकी का डी-कंपनी से लिंक
  • दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफत में आए छह आतंकियों को लेकर महाराष्ट्र एटीएस ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की है. इस दौरान महाराष्ट्र एटीएस प्रमुख विनीत अग्रवाल ने जानकारी देते हुए कहा कि हमें आतंकी अलर्ट मिलते हैं, लेकिन जहां तक ​​इस मामले की बात है तो मुंबई और राज्य दोनों सुरक्षित हैं

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफत में आए छह आतंकियों को लेकर महाराष्ट्र एटीएस ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की है. इस दौरान महाराष्ट्र एटीएस प्रमुख विनीत अग्रवाल ने जानकारी देते हुए कहा कि हमें आतंकी अलर्ट मिलते हैं, लेकिन जहां तक ​​इस मामले की बात है तो मुंबई और राज्य दोनों सुरक्षित हैं. उन्होंने कहा कि  जान मोहम्मद के पास से कोई विस्फोटक या हथियार बरामद नहीं हुआ है. दिल्ली पुलिस और मुंबई पुलिस इस पर सूचनाओं का आदान-प्रदान करेगी. हमारी टीम आज दिल्ली जा रही है. मुंबई में महाराष्ट्र एटीएस प्रमुख विनीत अग्रवाल ने बताया कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 6 आतंकियों को गिरफ्तार किया है. कल गिरफ्तार किए गए 6 लोगों में से एक व्यक्ति मुंबई के धारावी का रहने वाला है. उसके पास डी-कंपनी लिंक थे. उसे कोटा में गिरफ्तार किया गया था जब वह दिल्ली के लिए एक ट्रेन में यात्रा कर रहा था.

विनीत अग्रवाल ने बताया कि कल दिल्ली पुलिस की प्रेस कांफ्रेंस में पुलिस ने बताया कि 6 गिरफ्तार में 1 मुम्बई का है. उसका नाम जान मोहम्मद है, यह धारावी में रहता है.
उसका पाकिस्तान की डी कंपनी के साथ 20 साल पुराना रिकॉर्ड है. लेकिन यह इन्फॉर्मेशन हमारे पास नहीं थी, दिल्ली पुलिस को उसकी जानकारी थी. जान मोहम्मद ने 9 तारीख को जाने का प्लान बनाया, कन्फर्म नहीं हो पा रहा था. 13 को टिकट लिया गोल्डन एक्सप्रेस टिकट का, जो शाम तक कन्फर्म हो गया. रास्ते में कोटा पहुंचने पर इसे गिरफ्तार किया गया..इसके पास कोई हथियार नहीं मिले..वो अकेला ही था. उन्होंने बताया कि इस संबंध में जो इन्फॉर्मेशन है, वो दिल्ली पुलिस के पास है, हमारी एक टीम शाम को दिल्ली जाएगी. जो जानकारी दिल्ली पुलिस के पास है, वो हम लेंगे, हमारी जानकारी उन्हें देंगे.

उन्होंने कहा कि आज की तारीख में अंडरवर्ल्ड का होल्ड लगभग 0 के बराबर है, हमारी पूरी क्षमता है कि हम सभी चीजों का ख्याल रखें. यह मामला दिल्ली में शुरू हुआ, दिल्ली से मुम्बई आने से पहले ही इसे अरेस्ट किया गया. डी कंपनी के साथ इसका 20 साल पुराना मामला पायधुनि का है.. तोड़फोड़ और फायरिंग का केस है.. वो उस समय एक hentchman के तौर पर काम करता था. केंद्रीय एजेंसी इन दिल्ली पुलिस को अलर्ट किया, मुम्बई पुलिस या एटीएस को नहीं किया, क्योंकि यह दिल्ली का मामला है.

एटीएस प्रमुख ने कहा कि जो आरोपी है वो धारावी का है, उसे ट्रेन से गिरफ्तार किया गया है.  यह कैसे हमारी असफलता है. हमारे पास 1000 लोग राडार मे रहते हैं. मैं दो दिन से दिल्ली पुलिस से बात कर रहा हूँ. हम जो भी करेंगे, दिल्ली से मिलकर करेंगे.अब तक हमें FIR की कॉपी भी नहीं मिली है. जान के परिवार से हमने नॉर्मल जानकारी ली है, पूछताछ नहीं की है. उन्होंने कहा कहा कि राज्य और शहर दोनों सुरक्षित है. कोई एक्सप्लोसिव या कोई हथियार महाराष्ट्र में नहीं आया. यह सब दिल्ली में हुआ, यह सब दिल्ली में हथियार लेने जा रहे थे.गणेश चतुर्थी से इसका कोई लेना देना है या नहीं, यह दिल्ली पुलिस बता सकती है. दिल्ली पुलिस ने बताया कि सेंट्रल एजेंसी ने इन्हें जानकारी दी आर उसके आधार पर उन्होंने कार्रवाई की.

उन्होंने कहा कि हमारे पास जो जानकारी है, वो हम मीडिया से साझा नहीं कर सकते. हमें पता है कि महाराष्ट्र में इस आरोपी के कितने साथी हैं, लेकिन हम वो आपको नहीं बता सकते. ऐसा प्रोटोकॉल नहीं है कि हमें जानकारी देनी चाहिए. मामला दिल्ली का है, जो सबूत है उसके साथ उन्हें पकड़ा गया, अब वहाँ जहाँ के भी लोग थे, उसे गिरफ्तार किया गया. अगर इस आदमी को महाराष्ट्र से उठाते तो आप सवाल पूछ सकते, लेकिन उसे कोटा से पकड़ा गया. उन्होंने कहा कि कोई मस्जिद का नाम निकलकर नहीं आ रहा है. इस आदमी को पैसे की ज़रूरत थी.इस पर कर्ज़ था, पहले यह ड्राइवर की तरह काम करता था, उसके बाद काम छूट गई. उसके बाद टैक्सी खरीदा, उसके किश्त नहीं भर पाया, उसे भी वो ले गए.


पत्रकार अप्लाई करे Apply