ब्लड शुगर टेस्ट स्ट्रिप सस्ते में प्राप्त करे
Dr. Morepen BG-03 Blood Glucose Test Strips, 50 Strips (Black/White)

Karwa Chauth Moon Rise Timing 2020: जानें आपके शहर में कितने बजे दिखेगा करवा चौथ का चांद

 
Happy Karvachot

नई दिल्ली ।  पति-पत्नी के आपसी विश्वास और प्रेम के प्रतीक के रूप में मनाया जाने वाला करवा चौथ त्योहार बुधवार को मनाया जाएगा, लेकिन इसको लेकर अभी से बाजार में रौनक बढ़ गई है। शादीशुदा युवतियां और महिलाएं जहां मंगलवार देर रात तक हाथों पर पिया के नाम की मेहंदी रचाती रहीं तो वहीं, एक-दूसरे से दूर रह रहे पति-पत्नी शुभकामना संदेश भी भेज रहे हैं। करवा चौथ में महिलाओं के लिए चांद का दर्शन और पूजा का विशेष महत्व होता है। सुबह से निर्जला व्रत रखते हुए जब रात को चांद के दर्शन होते तब करवा चौथ का व्रत पूरा माना जाता है। दिल्ली से सटे नोएडा सेक्टर 19- स्थित सनातन धर्म मंदिर के पुजारी वीरेंद्र नंदा का कहना है कि करवा चौथ के दिन मंदिर में आने वाली महिलाओं को शारीरिक दूरी का पालन करते हुए कथा सुनाई जाएगी। उनके बैठने के लिए जगह चिन्हित की जा रही है, ताकि कोरोना के चलते शारीरिक दूरी के लिए 6 फीट की दूरी बनी रहे। वहीं, थाली बांटने की रस्म महिलाएं घर में ही पूरी कर सकती हैं। एक हाथ में थाली और दूसरे हाथ में थाली लेते हुए उन्हें आपस में बांट लें।

पति-पत्नी के समर्पण का त्योहार करवा चौथ

हिंदू पंचांग की गणना के मुताबिक, हर साल कार्तिक महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि पर करवा चौथ का त्योहार पूरे देश में मनाया जाता है। यहां तक कि अब तो विदेशों में भी यह त्योहार मनाया जाने लगा है। इस बार यह त्योहार 04 नवंबर को है।  करवा चौथ का व्रत कार्तिक मास में कृष्ण पक्ष की चतुर्थी के दिन रखा जाता है।ऐसा कहा जाता है कि सुहागिन युवतियों और महिलाओं के त्याग और तप का फल उन्हें जरूर प्राप्त होता है। पूजा के दौरान शिव-पार्वती और गणेश भगवान की पूजा की जाती है। चांद निकलने पर अर्घ्य देकर छलनी में पति का चेहरा देखा जाता है। पति के हाथों पानी पीकर व्रत पूरा किया जाता है।

क्या होती है करवा चौथ की विधि

देश में करवा चौथ त्योहार के रोज सुहागिन महिलाएं-युवतियां अपने पति की लंबी आयु और उनकी सुख-समृद्धि की कामना के लिए कठिन व्रत रखती हैं। इसी के साथ करवा चौथ पर सुहागिनें करवा माता के साथ भगवान शिव और माता पार्वती की विधिवत पूजा-अर्चना करती हैं। करवा चौथ पर रखा जाने वाला यह व्रत काफी कठिन होता है। ऐसे में इस दिन महिलाएं पूरे दिन बिना पानी पीए उपवास रखती हैं। रात को चांद के दर्शन और पूजा के बाद पति के हाथों से जल ग्रहण करती है। करवा चौथ में चांद का दर्शन और पूजा का विशेष महत्व होता है। सुबह से निर्जला व्रत रखते हुए जब रात को चांद के दर्शन होते तब करवा चौथ का व्रत पूरा माना जाता है।

दिल्ली-एनसीआर में यह है पूजा का मुहूर्त

चतुर्थी तिथि: चार नवंबर सुबह 3:24 बजे से 5 नवंबर सुबह 5:14 बजे तके।

करवा चौथ मुहूर्त: बुधवार शाम 5:29 बजे।

चंद्रोदय : बुधवार रात 8 :16 बजे।

आपके शहर में कब दिखेगा चांद

  • प्रयागराज- 20:19
  • मेरठ- 20:31
  • गया- 20:07
  • मुंबई- 21:05
  • इंदौर- 20:48
  • पुणे- 21:02
  • लखनऊ- 20:21
  • वाराणसी- 20:14
  • गाजियाबाद- 20:33
  • पटना- 20:05
  • रांची- 20:07
  • बरेली- 20:25
  • भागलपुर- 19:58

यह भी जानें 

सुहागिन महिलाएं-युवतियां चंद्रमा को अर्घ्य देकर पूजा करें। इसके बाद व्रत खोलने के बाद पति और परिवार में अन्य बड़े-बुजुर्गों का आशीर्वाद लें। इस दौरान इस बात का विशेष ध्यान रखें कि पूजा की थाली में छलनी, आटे का दीया, फल, ड्राईफ्रूट, मिठाई और दो पानी के लोटे होने चाहिए।

कैसे दें चंद्रमा को अर्घ्य

जानकारों की मानें तो सुहागिन युवतियां-महिलाएं जिस चुन्नी को ओढ़कर कथा सुनें फिर उसी चुन्नी को ओढ़कर चंद्रमा को अर्घ्य दें। छलनी में दीया रखकर चंद्रमा को उसमें से देखें और फिर उसी छलनी से तुरंत अपने पति को देखें। इसके बाद आप बायना (खाना और कपड़े, दक्षिणा ) निलाकर अपने बड़ों को दें और फिर खाना खाएं। इस दिन लहसुन-प्याज वाला और तामसिक खाना न बनाएं।

शादी शुदा जोड़ों ने भेजे ये संदेश

प्रेम भरे संदेश ऐसे पति-पत्नी वॉट्सएप मैसेज, वॉट्सएप स्टेटस, फेसबुक मैसेंजर और फेसबुक के जरिये भेज रहे हैं तो साथ-साथ हैं यानी नौकरी आदि के सिलसिले में दूर नहीं रह रहे हैं। इस तरह के संदेश आप भी भेज सकते हैं। पति-पत्नी द्वारा एक-दूजे को भेजे गए ये संदेश न केवल भावनात्मक रूप से एक-दूसरे को मजबूत करेंगे, बल्कि प्यार में भी इजाफा करेंगे।

मोहब्बत में करवाचौथ पर चांद भी होगा दीवाना,

मोरे सजना इस जनम में नहीं हर जनम साथ निभाना।

हैप्पी करवा चौथ

——————————————–

खुदा करे कि ये दिन बार-बार आए,

मेरी दुआ है कि हजार बार आए।

हैप्पी करवा चौथ

————————————

एक चांद के साथ तुम्हारा दीदार होगा,

उस पल सागर से भी गहरा हमारा प्यार होगा।

हैप्पी करवा चौथ

———————————————-

चांद सी खिलना फूलों सी मुस्कुराना,

करवा चौथ पर सजनी ऐसे मेरे सामने आना।

हैप्पी करवा चौथ

———————————————

चांद के साथ चांदनी से मुलाकात होगी,

एक-एक लम्हे में मोहब्बत साथ होगी।

हैप्पी करवा चौथ

————————————–

हाथों में लगी मेहंदी में साजन तेरा नाम होगा,

तु सामने होगा और चांद आसमान में होगा।

हैप्पी करवा चौथ

 
 
Top