जापान: 60 साल में सबसे खतरनाक तूफान का खतरा, गुलाबी हुआ आसमान, 42 लाख लोगों ने छोड़ा घर

 

खास बातें

  • जापान में 60 साल के सबसे ताकतवर तूफान हगिबीस का डर
  • सरकार ने 42 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया
  • 180 किमी की रफ्तार से चल रही हवाएं मचा रहीं तबाही
  • सभी हवाई सेवाएं स्थगित, इमरजेंसी सेवाएं हाई अलर्ट पर

जापान में 60 साल के सबसे ताकतवर तूफान हगिबीस की वजह से लोगों में डर का माहौल है। अभी तक 42 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है। प्राप्त जानकारी के अनुसार तूफान के शनिवार (आज) को तट से टकराने की आशंका है। जापान में 180 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं।

‘हगिबीस’ तूफान के असर से राजधानी टोक्यो का आसमान गुलाबी और बैंगनी हो गया है। फिलीपींस ने इस तूफान को हगिबीस नाम दिया है। वहां की भाषा में इसका मतलब रफ्तार होता है। बता दें कि जापान में 1958 में इसी तरह के तूफान ने भारी तबाही मचाई थी।

तेज हवाएं मचा रहीं तबाही

उस समय भयंकर तूफान की वजह से 1200 लोग मारे गए थे और हजारों लोग बेघर हो गए थे। 180 किमी की रफ्तार से चल रही हवाओं ने तबाही मचानी शुरू कर दी है। तेज हवाओं से कई गाड़ियां सड़क पर चलते हुए पलट गईं। साथ में एक व्यक्ति के मारे जाने की भी खबर है।

जापान की सरकार ने बाढ़ और भूस्खलन की आशंका के चलते तटीय इलाकों को खाली करा दिया है। सभी हवाई सेवाओं को स्थगित कर दिया गया है। जापानी कंपनियों ने 1929 अंतरराष्ट्रीय और घरेलू उड़ानें रद्द कर दी हैं। रेल नेटवर्क को भी बंद कर दिया गया है। लोगों को घरों में रहने की सलाह दी गई है।

इमरजेंसी सेवाएं हाई अलर्ट पर

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने लोगों से सतर्क रहने की अपील की है। सरकार ने इमरजेंसी सेवाओं को हाई अलर्ट पर रखा है। जापान में रग्बी विश्व कप के सभी मैच रद्द कर खिलाड़ियों को वापस भेज दिया गया है।
 
 

Related posts

Top