अपनी सुरक्षा को लेकर ‘परेशान’ आईपीएस बसंत रथ ने लिखा लेटर, विवाद

 

 

  • आईजी बसंत रथ का लिखा एक कथित लेटर इन दिनों चर्चा का विषय
  • जम्मू-कश्मीर के DGP से खुद की सुरक्षा को लेकर आशंका जताई
  • बसंत ने गांधीनगर SHO को लिखा लेटर, रोजनामचे में एंट्री के लिए कहा
  • लेटर की पुष्टि नहीं हो सकी है लेकिन प्रदेश और सोशल मीडिया पर चर्चा

जम्मू
वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी बसंत रथ एकबार फिर चर्चा में हैं। अब उनके उस कथित पत्र को लेकर विवाद खड़ा हो गया है जिसमें उन्होंने जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह की वजह से खुद की सुरक्षा को लेकर आशंका जताई है। यह पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

बताया जा रहा है कि बसंत ने 25 जून को गांधीनगर थाना प्रभारी को यह कथित पत्र लिखा था। उन्होंने इस पत्र में उन्होंने एफआईआर दर्ज करने की मांग तो नहीं की है, लेकिन इसे रोजनामचे में दर्ज करने के लिए कहा है। गांधीनगर थाने के प्रभारी गुरनाम चौधरी ने हालांकि इस तरह का कोई पत्र मिलने से इनकार किया।

‘मेरे साथ कुछ बुरा होता है तो आपको पता हो किसका नंबर डायल करना है’
आईजी बसंत रथ के लिखे इस कथित पत्र में कहा गया है, ‘मैं आपको अपनी सुरक्षा और प्रतिष्ठा के प्रति वास्तविक आशंका को लेकर पत्र लिख रहा हूं। मैं यह देश के आम नागरिक के तौर पर कर रहा हूं। अपनी व्यक्तिगत क्षमता में। न कि लोकसेवक के रूप में। न कि पुलिसकर्मी के रूप में।’ पत्र में लिखा है, ‘मैं आपसे उपर्युक्त व्यक्ति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने को नहीं कह रहा हूं। मैं आपसे सिर्फ यह कह रहा हूं कि आप इसे अपने थाने में रोजनामचे का हिस्सा बनाएं…अगर मेरे साथ कुछ बुरा होता है तो आपको पता होना चाहिए कि किसका नंबर आपको डायल करना है।’

पत्र के सब्जेक्ट में डीजीपी का नाम, प्रदेश में खड़ा हुआ विवाद

पत्र में सब्जेक्ट के रूप में जम्मू कश्मीर पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह का नाम है जो हाथ से लिखा गया है। सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस पत्र ने केंद्रशासित प्रदेश में विवाद खड़ा कर दिया है। सीनियर अधिकारियों के बीच इस पत्र की खासा चर्चा है।

 
 
Top