कोरोना के मरीजों का आंकड़ा 100 के पार, भारत ने सील किए बॉर्डर

 
हाइलाइट्स
  • देश में कोरोना के मरीजों का आंकड़ा 100 की संख्या पार कर गया है
  • महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा कोरोना के 31 मरीज पाए गए हैं
  • सरकार ने इस संक्रमण को आपदा घोषित कर दिया है
  • भारत सरकार ने पाकिस्तान, भूटान, बांग्लादेश, म्यांमार और नेपाल बॉर्ड से आने जाने पर रोक लगा दी

नई दिल्ली
कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए सरकार ने अपने बॉर्डर को सील करने का फैसला किया है। आज से पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल, भूटान और म्यांमार बॉर्डर से आवागमन पर रोक लगा दी गई है। गृह मंत्रालय ने कहा है कि अगला आदेश जारी होने तक भारत की पड़ोंसी देशों से लगने वाली सीमाओं से आना-जाना प्रतिबंधित है। हालांकि कुछ चेक पोस्ट से जरूरी आवागमन हो सकेगा। दरअसल भारत में भी लगातार कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है। इस समय महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे ज्यादा 31 मरीज हैं। इस तरह से देश में इस वायरस से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या 101 पहुंच गई है। इनमें से दो की मौत हो चुकी है और 10 मरीज ठीक हो चुके हैं।

सरकार ने कोरोनो का आपदा घोषित किया
केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस को आपदा घोषित कर दिया है। ऐसे में गृह मंत्रालय ने ऐलान किया है कि इस संक्रमण से मरने वालों के परिवार को 4 लाख रुपये की मदद राशि दी जाएगी। इससे निपटने के लिए राज्य सरकारें आपदा राहत कोष का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। सरकार ने बॉर्डर सील करने के साथ ही कहा है कि अगर कोई यूएन का व्यक्ति या फिर डिप्लोमैट वैलिड वीजा के साथ आना चाहता है तो उसे अटारी-वाघा बॉर्डर से अनुमति दी जा सकती है। हालांकि उसे भी स्क्रीनिंग से गुजरना होगा। सरकार ने पहले ही बता दिया है कि भारत-बांग्लादेश क्रॉस बॉर्डर ट्रेनें और बसें 15 अप्रैल तक सस्पेंड रहेंगी। इनकी तारीख और भी बढ़ाई जा सकती है।

इंडिगो ने रद्द की उड़ानें
इंडिगो ने शनिवार को कहा कि खाड़ी देश की वीजा रद्द करने की घोषणा के बाद वह यूएई के लिए अपनी कुछ उड़ानों को रद्द कर देगा। खड़ी देश ने कहा है कि कोरोवायरस वायरस की महामारी के मद्देनजर 17 मार्च से राजनयिक वीजा को छोड़कर सभी प्रवेश वीजा को निलंबित कर दिया जाएगा। एयरलाइन की ओर से कहा गया है कि राजनयिक पासपोर्ट धारकों को छोड़कर साथ सभी विदेशियों के लिए वीजा के निलंबन के कारण, इंडिगो अपनी कुछ उड़ानों को दुबई, शारजाह और अबू धाबी के लिए रद्द कर देगा। एयरलाइंस की ओर से कहा गया है कि हम अपने ग्राहकों को हुई असुविधा के लिए खेद व्यक्त करते हैं, और प्रभावित यात्रियों को पूरी राशि वापस कर देंगे।

आधे देश में बंद हैं स्कूल-कॉलेज
कोरोना वायरस की वजह से देश के आधे राज्यों में स्कूल-कॉलेज 31 मार्च तक बंद कर दिए गए हैं। इसमें दिल्ली, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़, जम्मू, हरियाणा और केरल भी शामिल हैं। कोरोना का प्रकोप बढ़ने की वजह से सरकार एहतियाती कदम उठा रही है। सरकार ने लोगों से अपील की है कि वे बाहर के देशों की यात्रा न करें। सरकार ने बड़े स्तर पर क्वैरंटाइन और लैब्स का काम भी शुरू कर दिया है। महाराष्ट्र ने स्कूल-कॉलेज के साथ मॉल भी बंद करने का आदेश दिया है।

कई देशों ने लगाया है ट्रैवल बैन

दुनियाभर में अब तक 150000 से ज्यादा कोरोना वायरस संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं। इसके अलावा 5000 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। अमेरिका ने कल नैशनल इमर्जेंसी घोषित कर दी है। राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा है कि यूरोप के देशों पर यात्रा के लिए लगाया गया प्रतिबंध अब ब्रिटेन और आयरलैंड पर भी लागू होगा। फ्रांस, ईरान, इटली समेत कई देशों ने गैदरिंग और यात्रा पर रोक लगा रखी है। यहां तक की कई कंपनियों ने प्रोडक्शन पर रोक लगा दी है। फरारी ने कुछ दिनों के लिए प्रोडक्शन पर रोक लगाई है।

इटली में कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा 1200 से ऊपर पहुंच गया है। अमेरिका से पहले स्पेन ने अपने देश में आपातकाल की घोषणा कर दी है। दुनिया के कई बड़े नेता और जानी मानी हस्तियां भी इस संक्रमण के चपेट में आ गई हैं। राष्ट्रपति ट्रंप ने भी सावधानी के लिए अपना कोरोना टेस्ट कराया है। अभी उनकी रिपोर्ट का इंतजार है। हालांकि उनके फिजिशन ने कहा था कि ट्रंप में कोई ऐसे लक्षण नहीं हैं।

 
 

Related posts

Top