ईरान में 250 से ज्यादा भारतीयों के कोविड- 19 पॉजिटिव होने की पुष्टि नहीं कर सकता: विदेश मंत्रालय

 
हाइलाइट्स
  • भारतीय शिया मुसलमानों का दल तीर्थयात्रा पर ईरान के शहर कोम गया है
  • इस दल में शामिल एक शख्स ने दावा किया कि वहां 254 भारतीयों में संक्रमण की पुष्टि हुई है
  • उस शख्स ने लोगों के नाम समेत कई जानकारियां लिस्ट में दी हैं
  • भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस दावे की पुष्टि करने से इनकार कर दिया

नई दिल्ली
विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि ईरान में 250 से ज्यादा भारतीयों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की खबर की पुष्टि नहीं की जा सकती है। मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव दामू रवि ने खबरों को लेकर एक सवाल के जवाब में कहा, ‘ईरान में 250 से ज्यादा भारतीयों में संक्रमण की पुष्टि नहीं कर सकता।’ उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘हमारा दूतावास ईरान में भारतीयों की बहुत अच्छी देखरेख कर रहा है। राजदूत की उनपर गहरी नजर है। दूतावास ईरान सरकार के सहयोग और साझेदारी से हर तरह की सुविधा मुहैया करा रहा है।’

ईरान से ही आया दावा
दरअसल, भारत से ईरान तीर्थयात्रा पर गए शिया मुस्लिम समुदाय के एक दल में शामिल एक व्यक्ति ने दावा किया कि जांच में 254 भारतीयों को कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया है। उसने दावा किया कि भारत से ईरान गए डॉक्टरों के दल ने जांच की तो 254 भारतीय कोविड- 19 पॉजिटिव पाए गए। इनमें तीर्थयात्री और विद्यार्थी शामिल हैं।

दावे में क्या कहा
दावा करने वाले ने संक्रमित तीर्थयात्रियों और विद्यार्थियों की लिस्ट साझा की जिसमें नाम, पासपोर्ट नंबर और पीएनआर नंबर सहित हर समूह के एक-एक व्यक्ति के कॉन्टैक्ट नंबर भी दिए गए थे। कहा जा रहा है कि इन 254 संक्रमित भारतीयों में 80 स्टूडेंट्स हैं। इन्हें चार समूहों में बांट दिया गया है। इनमें ज्यादातर लोग ईरानी शहर कोम में जबकि कुछ लोग राजधानी तेहरान में हैं।

इन राज्यों से ईरान गए हैं मुस्लिम तीर्थयात्री
गौरतलब है कि ईरान का शहर कोम दुनियाभर के शिया मुसलमानों का पवित्र स्थल है। लेकिन, अभी यह शहर चीन के वुहान जैसा ही कोरोना वायरस का केंद्र बना हुआ है। खतरे को भांपते हुए भारत सरकार ने 27 फरवरी से ईरान से सीधे भारत आने वाली उड़ानों पर रोक लगा दी। इस कारण भारत के 1,100 शिया मुस्लिम तीर्थयात्री वहां फंस गए। इनमें ज्यादातर लद्दाख, जम्मू-कश्मीर और महाराष्ट्र के हैं।

लाए गए सैकड़ों भारतीय
हालांकि, 15 मार्च को विशेष विमान से 234 भारतीयों को वापस लाया जा चुका है जिन्हें राजस्थान के जैसलमेर स्थित क्वारंटाइन में रखा गया है। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने बताया कि इनमें 131 स्टूडेंट्स और 103 तीर्थ यात्री हैं। उससे पहले 10 मार्च को भी 58 भारतीयों को ईरान से भारत लाया गया था।

 
 

Related posts

Top