Delhi Weather Forecast: दिल्ली में लू का सितम अभी रहेगा जारी, बरसेगी आग

 

 

  • मौसम विभाग के अनुसार इस पूरे हफ्ते दिल्ली वासियों को गर्मी से राहत की कोई उम्मीद नहीं है
  • शुक्रवार- शनिवार को तेज हवाओं के साथ बूंदाबांदी की संभावना लेकिन गर्मी से राहत नहीं मिलेगी
  • अम्फान तूफान की वजह से बंगाल की खाड़ी की तरफ से आ रही ठंडी हवाएं दिल्ली आना रुक गई हैं

नई दिल्ली
दिल्ली में गर्मी और लू का सितम शुरू हो गया है। गुरुवार को सीजन का सबसे गर्म दिन रहा। दिल्ली में अधिकतम तापमान 42.7 डिग्री रहा। पालम में तो तापमान 44.1 डिग्री तक पहुंच गया। अब गर्मी की वजह से भी लोगों की हालत खराब होने लगी है।

मौसम विभाग के अनुसार इस पूरे हफ्ते गर्मी से राहत की कोई उम्मीद नहीं है। शुक्रवार और शनिवार को तेज हवाओं के साथ बूंदाबांदी की संभावना है, लेकिन इसकी वजह से गर्मी से राहत नहीं मिलेगी। तापमान 42 से 43 डिग्री बना रह सकता है। इससे पहले 2013 में 21 मई को तापमान 45 डिग्री पहुंचा था।

अम्फान की वजह से रुकी हवाएं
अम्फान की वजह से बंगाल की खाड़ी की तरफ से आ रही ठंडी हवाएं दिल्ली आना रुक गई हैं। हालांकि रेगिस्तान की तरफ से आने वाली गर्म हवाएं लगातार दिल्ली को झुलसा रही है। इसी वजह से सफदरजंग का अधिकतम तापमान बढ़कर 42.7 डिग्री पहुंच गया है, यह सामान्य से 3 डिग्री अधिक है। न्यूनतम तापमान अभी भी 24.8 डिग्री बना हुआ है। पालम में अधिकतम तापमान 44.1 डिग्री, लोदी रोड में 43, आया नगर में 43.2 डिग्री, नजफगढ़ में 42.2 डिग्री और स्पोर्ट्स कॉम्प्लैक्स में 42.5 डिग्री रहा।

शुक्रवार को बूंदाबांदी की संभावना
शुक्रवार को शाम के तहत 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। इसके साथ ही बूंदाबांदी की संभावना भी है। अधिकतम तापमान 42 और न्यूनतम 25 डिग्री ही रहेगा। शनिवार को भी शाम के समय बूंदाबांदी और आंधी की संभावना है लेकिन तापमान 42 डिग्री ही बना रहेगा। इसके बाद मौसम साफ हो जाएगा और तापमान रविवार को 43 डिग्री तक जा सकता है। मौसम का हाल बताने वाली एक वेबसाइट के अनुसार 26 मई को तापमान 45 डिग्री के करीब भी पहुंच सकता है।

गर्मी से फिलहाल राहत नहीं
स्काईमेट के अनुसार गर्मी से राहत मिलने की संभावना नहीं है। लू का प्रकोप बना रह सकता है। लोग हीट स्ट्रोक की चपेट में आ सकते हैं। इसलिए सलाह दी गई है कि अब दोपहर के समय लोग कम से कम बाहर निकलें, भरपूर पानी पीते रहें।

 
 

Related posts

Top