इंडोनेशिया में आए भूकंप में मृतक संख्या 162 पहुंची, 700 घायल

इंडोनेशिया में आए भूकंप में मृतक संख्या 162 पहुंची, 700 घायल

जर्काता:  इंडोनेशिया के पश्चिम जावा द्वीप में सोमवार को आए भूकंप में मृतक संख्या 162 पहुंच गई गई है.पश्चिम जावा के सियानजुर शहर में स्थानीय प्रशासन के प्रवक्ता एडम ने बताया, ‘सैकड़ों लोग मारे गए हैं, सैकड़ों घायल हैं और हजारों घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं. अब तक 162 लोगों की मौत हो चुकी है’. इसके साथ ही सोशल मीडिया पर भूकंप के प्रभाव वाले वीडियो शेयर किए जा रहे हैं. हालांकि इन वीडियो की आधिकारिक स्तर पर पुष्टि नहीं की जा सकती, लेकिन इनमें हिलती इमारतों को साफ देखा जा सकता है. सियानजुर के पुलिस प्रमुख डोनी हेर्मवान ने ब्रॉडकास्टर मेट्रो टीवी को बताया, ‘हम एक महिला और एक बच्चे को जिंदा निकालने में कामयाब रहे, लेकिन दूसरे की मौत हो गई. फिलहाल मैं यही जानकारी साझा कर सकता हूं’. स्थानीय प्रशासन बचाव एवं राहत कार्य युद्धस्तर पर चला रहा है.

और झटके आने की चेतावनी
स्थानीय प्रशासन से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक सियानजुर में भूस्खलन में फंसे दो लोगों को बचा लिया गया, लेकिन तीसरे व्यक्ति की मौत हो गई. इंडोनेशिया की स्थानीय मीडिया ने सियानजुर में कई इमारतों को दिखाया, जिनकी छत भूकंप में धाराशायी हो चुकी हैं. देश की मौसम विज्ञान एजेंसी ने भूकंप प्रभावित इलाकों में रह रहे लोगों को और भूंकप के झटकों की चेतावनी जारी की है. इंडोनेशिया की मौसम विज्ञान एजेंसी के प्रमुख ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया, ‘हम लोगों से फिलहाल इमारतों के बाहर रहने का आह्वान करते हैं क्योंकि भूकंप के बाद के झटके आ सकते हैं’.

एक अस्पताल में 20 मौत हुई
सियानजुर प्रशासन के प्रमुख हरमन सुहरमन ने स्थानीय मेट्रो टीवी को बताया, ‘मुझे अभी जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक अकेले इसी अस्पताल में करीब 20 लोगों की मौत हुई है और कम से कम 300 लोगों का इलाज चल रहा है. उनमें से ज्यादातर को भूकंप में ढही इमारतों के मलबे में फंसने से फ्रैक्चर हुआ था’. बचाव एवं राहत कार्य के दौरान मलबे में फंसे लोगों को निकालकर स्थानीय अस्पताल पहुंचाया जा रहा है. आशंका जताई जा रही है कि हताहतों की संख्या अभी और भी बढ़ सकती है. रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 5.6 मापी गई है.


पत्रकार अप्लाई करे Apply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *