CM योगी ने 56 हजार से अधिक उद्यमियों को एकमुश्त दिया 2,000 करोड़ रूपये से अधिक कर्ज

 

लखनऊ: केन्द्र की ओर से आर्थिक पैकेज की घोषणा के 24 घंटे के भीतर ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में एमएसएमई क्षेत्र के 56 हजार से अधिक उद्यमियों को 2000 करोड रूपये से अधिक का कर्ज एकमुश्त प्रदान किया। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि सीएम योगी ने प्रदेश में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम एमएसएमई क्षेत्र के 56 हजार 754 उद्यमियों को एकमुश्त दो हजार 2 करोड़ के कर्ज बांटे।
PunjabKesari
इतनी बड़ी धनराशि का कर्ज देने वाला यूपी बना पहला राज्य
प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश सरकार ने एमएसएमई सेक्टर को मजबूत करने की तैयारी पहले से ही कर रखी थी। केन्द्र से आर्थिक पैकेज के ऐलान के तत्काल बाद लॉकडाउन अवधि में भी इतनी बड़ी धनराशि का कर्ज देने वाला उत्तर प्रदेश पहला राज्य बन गया। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने एक क्लिक पर आनलाइन 2 हजार 2 करोड़ रूपये का कर्ज देकर रोजगार संगम ऑनलाइन मेला की व्यापक शुरूआत की।

CM ने एमएसएमई का साथी पोर्टल किया लांच
प्रवक्ता के अनुसार एक टेबल पर उद्यमियों और बैंकर्स को बैठाकर 56 हजार 754 उद्यमियों को एक क्लिक पर 2 हजार 2 करोड़ रू का कर्ज प्रदान किया गया। इन 56 हजार 754 इकाइयों से दो लाख लोगों को रोजगार की गारंटी मिली है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने एमएसएमई का साथी पोर्टल भी लांच किया।

कामगारों व श्रमिकों को यूपी की ताकत बनाएंगे:CM
सीएम ने इस अवसर पर कहा कि कामगारों व श्रमिकों को उत्तर प्रदेश की ताकत बनाएंगे। ये हमारे लिए पलायन का कलंक हटाने का भी बड़ा अवसर है इसीलिए हम कामगारों व श्रमिकों की ‘स्किलिंग की स्केलिंग’ कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी कोशिश है कि अब दीपावली में गौरी गणेश की मूर्तियां चीन से नहीं आएं क्योंकि गोरखपुर के टेराकोटा में चीन से बेहतर मूर्तियां बनाने का हुनर है।

प्रदेश में 90 लाख एमएसएमई इकाईयां
उन्होंने कहा कि देश का सबसे बड़ा एमएसएमई सेक्टर यूपी में है। कोरोना महामारी के दौरान ही यूपी में पीपीई किट की 26 इकाइयां खडी हुईं। छोटी बड़ी मिलाकर उत्तर प्रदेश में 90 लाख एमएसएमई इकाईयां हैं। प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री उद्यमियों के लिए सिंगल विंडो सिस्टम के जरिए हर हाथ को रोजगार देने के महाभियान में जुट गये हैं।

 
 

Related posts

Top