बार एसोसिएशन ने तहसीलदार के बातचित के प्रस्ताव को ठुकराया,कार्य प्रणाली से नाराज है वकील

जिलाधिकारी से मिलकर स्थानांतरण की करेगें मांग

नकुड 14 मई इंद्रेश। बार ऐसोसिएशन ने तहसीलदार के बातचित के न्यौते को ठुकरा दिया है। बार ऐसोसिएशन ने तहसीलदार के स्थानांतरण तक उनका बहिष्कार जारी रखने व अंादेालन को तेज करते हुए उच्चाधिकारियो को वस्तुस्थिति से अवगत कराने का निर्णय लिया है।

गौरतलब है कि तहसीलदार की कार्यप्रणाली व जनविरोधी नीति के विरोध मे बार ऐसोसिएशन विगत 26 अप्रैल से तहसीलदार का बहिष्कार कर रही है। तहसीलदार ने बार ऐसोसिएशन को प्रत्र भेजकर समस्याओ के समाधान के लिये वार्ता का न्यौता दिया था। जिसके बाद मंगलवार को बार रूम मे बार ऐसोसिएशन की बैठक बुलाई गयी थी। तहसीलदार की कार्यप्रणाली से नाराज वकीलो ने वार्ता का विरोध करते हुए कहा कि विगत अटठारह िदनो मे तहसीलदार की कार्यप्रणाली मे कोई सधार नहीं हुआ हैं हालत यह है कि तहसील मे आने वाले किसानो के प्रार्थना पत्र भी तहसीलदार के हस्ताक्षर के लिये एक एक सप्ताह तक पडे रहते है। यही हाल विरासत , दाखिल खारिज की प्रक्रियाओ का है। तहसीलदार कानून को ताक पर रखकर काम कर रहे है।
प्लाटो के दाखिल खारिज रोककर उन्होने आम आदमी की समस्याओ को बढाने का काम किया है । कार्यप्रणाली मे काई सुधार न होने की स्थिति मे तहसीलदार से बातचित करने का कोई औचित्य नहंी है। बैठक मे सर्वसम्मति से तहसीलदार के बातचित के न्यौते के प्रस्ताव को ठुकरा दिया गया। बैठक मे तय किया गया कि वकीलो को प्रतिनिधि मंडल जिलाधिकारी से मिलकर उन्हे वस्तुस्थिति से अवगत कराकर उनसे तहसीलदार का तुरंत स्थानांतरण कराने की मांग करेगा।

बैठक में बार संघ अध्यक्ष विनोद कुमार वर्मा, सचिव संजीव चैहान, पूर्व अध्यक्ष प्रदीप वर्मा , अनिरूद्ध शर्मा, उधमसिंह, राजपालसिंह, चै0 भरतसिंह, महावीरसिंह, देवेंद्र कुमार, यशपालसिंह, इलमसिंह सैनी, आजाद सैनी, रामगोपाल शर्मा, सुधीर मिततल आदि उपस्थित रहे।

व्हाट्सएप पर समाचार प्राप्त करने के लिए यंहा टैप/क्लिक करे वीडियो समाचारों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल सबस्क्राईब करे