पीयूष हत्याकांड: कलक्ट्रेट में छात्रों का हंगामा, कहा कि पुलिस की तानाशाही से बिगड़ सकता है माहौल

 

मेरठ में पीयूष हत्याकांड में छात्रनेता सचिन चौधरी पर हत्या की धारा बढ़ाने के खिलाफ सीसीएसयू के छात्रों ने मंगलवार को कलक्ट्रेट पर धरना देकर हंगामा किया। आरोप लगाया कि पुलिस-प्रशासन की तानाशाही शहर का माहौल बिगाड़ सकती है।

पूर्व छात्र अध्यक्ष संदीप चौधरी, रालोद नेता प्रशांत वर्मा, राजीव बालियान, दीपक पंवार, विशाल चौधरी, आदित्य पंवार, कुलदीप चौधरी, हितेश रस्तोगी, विपिन पंवार, विकास राणा, संजय चौधरी सहित करीब 80 से 100 छात्र जुलूस की शक्ल में कलक्ट्रेट पहुंचे। उन्होंने पुलिस अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। मौके पर पहुंचे सीओ सिविल लाइन हरिमोहन सिंह और सीओ कोतवाली दिनेश शुक्ला से छात्रनेताओं ने कहा कि हम शांति के साथ समस्या का समाधान चाहते हैं। लेकिन पुलिस द्वारा निरंतर किए जा रहे उत्पीड़न को बर्दाश्त नहीं करेंगे।

कहा कि पीयूष चौधरी की हत्या में छात्र नेता सचिन चौधरी पर हत्या का केस दर्ज हुआ। पुलिस ने विवेचना कर सचिन का नाम निकाल दिया था। अब पौने दो साल बाद फिर से सचिन का नाम हत्या में शामिल कर उस पर क्यों इनाम किया जा रहा है। आरोप है कि सचिन चौधरी ने छात्र कादिर मुठभेड़ को लेकर धरना दिया तो पुलिस तानाशाही पर उतर आई। पुलिस-प्रशासन के नकारात्मक रवैये पर छात्रों में भारी रोष है। उत्पीड़न के साथ-साथ पुलिस सचिन चौधरी को फर्जी मुकदमे में घसीटने का प्रयास कर रही है जो लोकतंत्र के खिलाफ है। अगर सचिन चौधरी की गिरफ्तारी हुई तो पुलिस प्रशासन इसका जिम्मेदार होगा।

 
 

Related posts

Top