यूपी: आरोपी अधिवक्ता को सरेआम हाईवे पर बेरहमी से पीटा, चार हिरासत में, ये है पूरा मामला

 

यूपी के बागपत शहर में जिम संचालक और उसके रिश्तेदार को गोली मारकर घायल करने के मामले में शनिवार को एसपी दफ्तर पर बेगुनाही का सबूत देने आ रहे आरोपी अधिवक्ता की हाईवे पर गिराकर बेरहमी से पिटाई की। पीटते हुए कोतवाली ले जाने लगे। एसपी दफ्तर के पास पुलिस ने उसे भीड़ के चंगुल से बचाकर सीएचसी में भर्ती कराया। पुलिस ने मारपीट करने वाले चार युवकों को हिरासत में लिया है। एसपी का कहना है कि युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

तीन सितंबर की रात दस बजे शहर में बर्फखाने के पास पंडित घनश्याम दास मार्ग पर राजा हेल्थ क्लब के संचालक अखलाक और उसका रिश्तेदार नफीस निवासी लोनी जनपद गाजियाबाद खाना खाने के लिए जा रहे थे। केनरा बैंक के पास दोनों पर तीन बाइकों पर सवार सात लोगों ने फायरिंग कर दी थी। जिम संचालक जांघ और नफीस कमर में गोली लगने से घायल हो गए थे। पुलिस ने उन्हें सीएचसी पर भर्ती कराया था। घायल जिम संचालक के भाई इरफान ने इरशाद पुत्र रसीद, उसके बेटे शहजाद, अरशद निवासी कैराना जनपद शामली, उसके रिश्तेदार वकील, नाजिम पुत्र रज्जाक निवासी खेकड़ा, मुस्तकीम, सिराज के खिलाफ धारा आईपीसी की धारा 307 के तहत मुकदमा दर्ज कराया। शहजाद अधिवक्ता भी है।

अखलाक का ससुरालियों से विवाद चल रहा है। शनिवार को मुकदमे का आरोपी शहजाद निवासी कैराना एसपी दफ्तर पर अपनी बेगुनाही का सबूत लेकर आ रहा था। एसपी दफ्तर पर पहले से ही घायल जिम संचालक के परिजन खड़े हुए थे। परिजनों को देखकर आरोपी दिल्ली-सहारनपुर हाईवे की तरफ भाग लिया। युवकों ने उसका पीछा कर रविदास मंदिर के पास उसे पकड़ लिया। हाईवे पर गिराकर उसकी बेरहमी से पिटाई की। लोगों की भीड़ लग गई।

इसके बाद युवक पीटते हुए उसे कोतवाली ले जाने लगे। एसपी दफ्तर के पास पुलिस ने भीड़ के चंगुल से उसे बचाकर सीएचसी में भर्ती कराया। पुलिस ने मारपीट करने वाले चार युवकों को हिरासत में ले लिया है।

 
 

Related posts

Top