SL vs AFG: प्रदीप ने दिलायी श्रीलंका को जीत, अफगानिस्तान की दूसरी हार

 

कुसाल परेरा के बड़े अर्धशतक और नुवान प्रदीप की शानदार गेंदबाजी से श्रीलंका ने बारिश से प्रभावित विश्व कप मैच में मंगलवार को यहां अफगानिस्तान को डकवर्थ लुईस पद्वति से 34 रन से हराकर टूर्नामेंट में अपना खाता खोला। अफगानिस्तान को जीत के लिये 41 ओवरों में 187 रन बनाने थे लेकिन उसकी टीम 32.4 ओवर में 152 रन पर आउट हो गयी। प्रदीप ने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 31 रन देकर चार और लेसिथ मलिंगा ने 39 रन देकर तीन विकेट लिये। अफगानिस्तान की तरफ से नजीबुल्लाह जादरान ने सर्वाधिक 43 रन बनाये।

श्रीलंका ने जब 33 ओवर में आठ विकेट पर 182 रन बनाये थे तब बारिश के कारण खेल रोकना पड़ा। इसके बाद जब दोबारा खेल शुरू हुआ तो मैच 41 – 41 ओवर का कर दिया गया। श्रीलंका की टीम 36.5 ओवर में 201 रन पर आउट हो गयी और अफगानिस्तान को डकवर्थ लुईस पद्वति से जीत के लिये 187 रन का लक्ष्य मिला। श्रीलंका को कम स्कोर पर आउट करने में मोहम्मद नबी ने अहम भूमिका निभायी। उन्होंने नौ ओवर में 30 रन देकर चार विकेट लिये जबकि राशिद खान और दौलत जादरान ने दो-दो विकेट हासिल किये। श्रीलंका की तरफ से कुसाल परेरा ने सर्वाधिक 78 रन बनाये। उसके बाद दूसरा बड़ा स्कोर अतिरिक्त रन (35) का रहा।

हजरूतुल्लाह जाजई (30) ने अफगानिस्तान को तूफानी शुरुआत दिलायी। उन्हें 24 रन के निजी योग पर कुसाल मेंडिस ने जीवनदान भी दिया लेकिन मलिंगा ने इसी ओवर में मोहम्मद शहजाद (सात) को दिमुथे करूणारत्ने के हाथों कैच कराकर श्रीलंका को पहली सफलता दिलायी। इसके बाद विकेटों को पतन शुरू हो गया। इसुरू उदाना ने नये बल्लेबाज रहमत शाह (दो) को तुरंत ही पवेलियन की राह दिखायी जबकि जाजई की पारी का अंत प्रदीप किया। इसमें हालांकि तिसारा परेरा का योगदान अहम रहा जिन्होंने अपने बायीं तरफ लगाने के बाद डाइव लगाकर शानदार कैच लपका।

प्रदीप ने हशमुतुल्लाह शाहिदी (चार) को भी आउट किया जबकि तिसारा ने मोहम्मद नबी (11) को बोल्ड करके श्रीलंका को बड़ी सफलता दिलायी। इससे स्कोर पांच विकेट पर 57 रन हो गया। कप्तान गुलबदीन नायब (23) और नजीबुल्लाह ने यहीं से स्थिति संभाली और छठे विकेट के लिये 64 रन जोड़कर अफगानिस्तान की उम्मीदें जगायी।

जब यह जोड़ी खतरनाक बनती जा रही थी तब प्रदीप ने नायब को पगबाधा आउट करके मैच को फिर रोमांचक बना दिया। इस तेज गेंदबाज ने अपने अगले ओवर में राशिद खान (दो) की गिल्लियां बिखेरकर श्रीलंका का पलड़ा भारी कर दिया। मलिंगा ने दौलत जादरान (छह) को बोल्ड किया लेकिन नजीबुल्लाह ने अफगानिस्तान के दर्शकों की उम्मीद बंधाये रखी, लेकिन उनके रन आउट होते ही श्रीलंका की जीत सुनिश्चित हो गयी।

इससे पहले बादल घिरे होने के बावजूद श्रीलंका ने अच्छी शुरुआत की थी और वह 15वें ओवर में 100 रन तक पहुंच गया था। एक समय वह एक विकेट पर 144 रन बनाकर बेहतर स्थिति में दिख रहा था लेकिन अफगानिस्तान ने शानदार वापसी की। कप्तान दिमुथे करूणारत्ने (30) को आउट करके कुसाल परेरा के साथ उनकी पहले विकेट के लिये 92 रन की साझेदारी तोड़ने वाले नबी ने पारी के 22वें ओवर में श्रीलंकाई खेमे में दहशत फैलाई। इस ओवर में उन्होंने तीन विकेट लिये।

नबी ने लाहिरू तिरिमाने (25) को बोल्ड किया तथा इसके बाद कुसाल मेंडिस (दो) को स्लिप में शाह के हाथों कैच कराया। एंजेलो मैथ्यूज आउट होने वाले अगले बल्लेबाज थे जो खाता भी नहीं खोल पाये। उनका कैच भी शाह ने लिया। तेज गेंदबाज हामिद हसन ने इसके बाद धनंजय डिसिल्वा (शून्य) को विकेटकीपर शहजाद के हाथों कैच कराया। उसकी मुश्किलें तब और बढ़ गयी जब तिसारा परेरा (दो) रन आउट हो गये। इससे स्कोर छह विकेट पर 159 रन हो गया।

इसुरू उदाना (दस) को दौलत जादरान ने बोल्ड किया, जबकि दूसरे छोर से विकेटों का पतन देख रहे कुसाल परेरा ने राशिद खान की गेंद पर स्वीप करने के प्रयास में विकेट के पीछे दिया। उन्होंने अपनी पारी में आठ चौके लगाये। पारी के 33वां ओवर के बाद भारी बारिश के कारण खेल रोकना पड़ा जिसके कारण लगभग तीन घंटे तक खेल नहीं हो पाया। इसके बाद जब खेल शुरू हुआ तो श्रीलंका ने चार ओवर के अंदर बाकी बचे दो विकेट ले लिये। सुरंगा लकमल 15 रन बनाकर नाबाद रहे। श्रीलंका पहले मैच में न्यूजीलैंड से दस विकेट से हार गया था जबकि अफगानिस्तान को मौजूदा चैंपियन आस्ट्रेलिया से सात विकेट से हार का सामना करना पड़ा था।

इस मैच के लिए दोनों टीमों की प्लेइंग XI:

श्रीलंका: लाहिरु थिरिमन्ने, दिमुथ करुणारत्ने (कप्तान), कुसल परेरा (विकेटकीपर), कुसल मेंडिस, एंजेलो मैथ्यूज, धनंजया डि सिल्वा, थिसारा परेरा, इसुरू उडाना, नुवान प्रदीप, सुरंगा लकमल, लसिथ मलिंगा।

अफगानिस्तान: मोहम्मद शहजाद (विकेटकीपर), हजरातुल्ला जजई, रहमत शाह, हश्मतुल्लाह शाहिदी, मोहम्मद नबी, गुल्बादीन नाएब (कप्तान), नजिबुल्लाह जादरान, राशिद खान, दौलत जादरान, मुजीब उर रहमान, हामिद हसन।

 
 
Top