Apply for Journalist

रोहाना टोल प्लाजा प्रकरण: पुलिस ने देवबंद के कई गाँवों दी दबिश, महिलाओं से की अभद्रता

 

कई युवकों को हिरासत में लिया, हिंदू संगठनों में जबरदस्त आक्रोश

हिंदू संगठनों ने महापंचायत की दी चेतावनी

देवबंद: रोहाना टोल प्लाजा पर कर्मचारियों के साथ मारपीट तथा तोडफोड़ करने के मामले में मुजफ्फरनगर क्राइम ब्रांच और पुलिस ने शुक्रवार को देवबंद क्षेत्र के कई गांवों में छापामारी की। पुलिस ने चार युवकों को हिरासत में लिया है। आरोप है कि छापेमारी के दौरान पुलिस ने महिलाओ से साथ जमकर अभद्रता की। युवकों को हिरासत में लिए जाने के बाद हिंदू संगठनों में जबरदस्त आक्रोश है। हिंदू संगठनों ने महापंचायत की चेतावनी दी है।

रोहाना टोल प्लाजा पर हिंदू संगठनों द्वारा कर्मचारियों से मारपीट व तोडफोड़ की घटना में दर्ज मुकदमें के मामले में मुजफ्फरनगर क्राइम ब्रांच और कोतवाली पुलिस ने शुक्रवार को देवबंद के घलौली, बास्तम, कुरड़ी आदि गांवों में ताबड़तोड़ दबिश दी। पुलिस ने बास्तम निवासी मनोज त्यागी, कुरडी से मनीष त्यागी, घलौली गांव निवासी शुभम त्यागी और काला त्यागी को हिरासत में ले लिया। पुलिस का कहना है कि हिरास्त में लिए गए युवक टोल प्लाजा प्रकरण में मारपीट व तोडफोड़ में शामिल थे। वंही ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि पुलिस ने घर की महिलाओ के साथ जमकर गाली-गलोच व अभद्रता की।

इस मामले में भाजपा नगराध्यक्ष गजराज सिंह राणा व देहात अध्यक्ष उपेंद्र गुर्जर ने कहा कि पुलिस प्रशासन सोची समझी साजिश के तहत भाजपा सरकार को बदनाम करने का काम कर रहा है। जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कहा कि जल्द ही टोल प्लाजा पर महापंचायत की घोषणा की जाएगी। उन्होंने आरोप लगाया कि दबिश के दौरान पुलिस ने घर में मौजूद महिलाओं के साथ भी अभद्रता की।

वही, महाकालेश्वर ज्ञान मंदिर पर आयोजित बैठक में स्वामी ब्रहमानंद सरस्वती ने पुलिस छापामारी के निंदा करते हुए कहा कि पुलिस कि यह कार्रवाई सरकारी चोले में किया गया अपराध है जो योगी-मोदी सरकार को अस्थिर व बदनाम करने के लिए योजनाबद्ध तरीके से किया गया है। इस मौके पर गौरव शर्मा, वासुदेव, अंकुश शर्मा, स्वामी गणेशानंद, श्यामानंद आदि मौजूद थे।

गौरतलब है कि इस प्रकरण में मुजफ्फरनगर कोतवाली में हिंदूवादी स्वाभिमान संघर्ष समिति के संयोजक विकास त्यागी समेत करीब 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था।

 

 
 
Top