प्रजापति समाज ने की अनुसुचित जाति के प्रमाण पत्र जारी करने की मांग

 
nakur tehsil तहसील मुख्यालय पर प्रदर्शन करते प्रजापति समाज के लोग
  • तहसील मुख्यालय पर प्रदर्शन कर दिखायी ताकत

नकुड [इंद्रेश]। प्रजापति व कुम्हार जाति को शिल्पकार जाति की उपजाति मानते हुए अनुसुचित जाति के प्रमाण पत्र देने व केंद्र सरकार से सतरह जातियों केा अुनसुचित जाति का दर्जा देने की मांग को लेकर प्रजापति समाज ने तहसील पर प्रदर्शन कर ज्ञापन दिया।

बुद्धवार को दुपहर बाद प्रजापति समाज के लोग एकत्रित होकर तहसील मुख्यालय पर पंहुचे। उन्होंने केंद्र सरकार से राज्य सरकार के निर्णय के अनुसार सतरह जातियों को अनुसुचित जाति का दर्जा देने की मांग की। साथ ही आरोप लगाया कि प्रदेश के जिलाधिकारी प्रजापति समाज के व्यक्तियों को अनुसुचित जाति के प्रमाणपत्र न देकर प्रदेश सरकार व हाई कोर्ट के आदेशो की अवहेलना कर रहे है।

उन्होने तहसील के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजे ज्ञापन में कहा कि प्रदेश सरकार ने प्रदेश की  कुम्हार प्रजापति समेत 17 जातियों को अनुसुचित जाति का दर्जा दिया है। उसी के अनुसार केंद्र सरकार को भी इन जातियों को केंद्रीय सूचि मे दर्ज कर लेना कर इन जातियो को केंद्रीय सूचि का लाभ देना चाहिए। इस मौके पर प्रजापति समाज ने चेताया कि यदि समाज को अनुसुचित जाति के प्रमाणपत्र जारी नंही किये गये तो वे आंदोलन करने से भी पीछे नंही हटेगे।

इस मौके पर सत्यवीर सिंह, प्रमोद कुमार, श्यामलाल, दारा सिंह, रमेश, मोहन, सुरेश, सचिन, मदन, डा0 बिजेंद्र, राजीव, रामनिवास, ओमप्रकाश, मनोज, सुशील, सुमित, वेदप्रकाश, नरेद्र कुमार, बृजेश कुमार, मुकेंश कुमार, जादोराम, आदि उपस्थित रहे।

 

 
 
Top