जवानों के खून के निशान सीमा पार से मिले, दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे पाकिस्तान

 

नई दिल्ली: भारतीय सैनिकों के शव क्षत विक्षत करने के बाद भारत ने पाकिस्तान को दो टूक शब्दों में कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। भारत ने पाकिस्तान को सबूत देते हुए कहा कि खून के निशान नियंत्रण रेखा के पार तक गए हैं, जिससे पाक सैनिकों की संलिप्ता जग जाहिर होती है।

भारतीय सैनिकों के शव क्षत विक्षत करने के बाद भारत ने पाकिस्तान को दो टूक शब्दों में कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। भारत ने पाकिस्तान को सबूत देते हुए कहा कि खून के निशान नियंत्रण रेखा के पार तक गए हैं, जिससे पाक सैनिकों की संलिप्ता जग जाहिर होती है।

इससे पहले एलओसी पर भारतीय सेना के दो जवानों के साथ हुई बर्बरता पर भारत ने पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित को समन किया। अब्दुल बासित समन पर बुधवार को दिल्ली स्थित विदेश भवन पहुचें। बताया जा रा है कि विदेश मंत्रालय ने पाक उच्चायुक्त से 2 भारतीय जवानों के साथ बर्बरता की घटना पर आक्रोश व्यक्त किया और कड़ी कार्रवाई की मांग की।

विदेश मंत्रालय के सचिव गोपाल बागले ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। एलओसी पर भारतीय जवानों से बर्बरता के बाद से सेना आक्रोशित है।

सूत्रों की मानें तो राजोरी और पुंछ जिले में तैनात सेना के अधिकारियों को छूट दे दी गई है। पाकिस्तान को उसकी बर्बर हरकतों का जवाब देने के लिए सेना अपने अनुसार वक्त और स्थान का चयन करेगी। वह जब चाहे, जहां चाहे, मौका मिलते ही किसी भी तरह की कार्रवाई कर सकती है। एलओसी की कमान संभालने वाले सीओ स्तर के अधिकारियों को फ्री हैंड कर दिया गया है।

आर्मी स्टाफ के उप प्रमुख शरद चंद ने मंगलवार को दिल्ली में कहा कि दो सैनिकों का सिर कलम करने और फिर उनके शवों के साथ बर्बरता पाकिस्तानी फौज की हताशा को दर्शाता है लेकिन हम उसकी इस करतूत को काफी माफ नहीं करेंगे। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘मैं यह नहीं बताऊंगा कि हम क्या करने वाले हैं। हम बयानबाजी के बजाय कार्रवाई के लिए वक्त और स्थान का चयन करने पर केंद्रित होंगे।’ उनसे पूछा गया था कि पाकिस्तानी फौज की कायराना हरकत का भारतीय सेना किस तरीके से जवाब देगी।

बैट हमले में थे 8 लोग
सूत्रों का कहना है कि जवानों पर हमला करने वाले बैट टीम में आठ लोग थे। इसमें लश्कर, जैश ए मोहम्मद, पाकिस्तानी सैनिक और कसाई था। लेकिन जवानों के साथ बर्बरता पाक सैनिकों ने की। पाक सैनिकों को अब भारतीय सेना की तरफ से उसी की भाषा में जवाब दिया जाएगा।

हाई अलर्ट पर एलओसी
बैट हमले के बाद राजोरी, पुंछ, बारामूला, कुपवाड़ा की एलओसी पर हाई अलर्ट कर दिया गया है। जवानों को अति सतर्क होकर रहने के आदेश दिए गए हैं। भारत की अग्रिम चौकियों पर तैनात जवानों से भी कहा गया है कि पाक की तरफ से किसी भी समय फायरिंग शुरू हो सकती है। साथ ही जवानों को विशेष तौर पर स्नाइपर से सतर्क रहने के  लिए कहा गया है।

 
 

Related posts

Top