अंडमान पंहुचा मानसून, एक जून को केरल पहुँचने की सम्भावना

 

नई दिल्ली: दक्षिण-पश्चिम मानसून ने पूर्वानुमान के विपरीत तीन दिन पहले ही रविवार को अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में दस्तक दे दी है। इसकी औपचारिक घोषणा रविवार को मौसम विभाग ने की।

मौसम विभाग ने कहा है, दक्षिण पश्चिम पवन के मजबूत होने, लगातार बादल छाने और बारिश होने के मद्देनजर दक्षिण पश्चिम मॉनसून बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पश्चिम के कुछ हिस्सों में, निकोबार द्वीप समूह में, समूचे दक्षिण अंडमान सागर और उत्तर अंडमान सागर के भागों पर रविवार को  पहुंच गया।

हालांकि, मौसम विभाग के महानिदेशक केजी रमेश ने कहा कि यह अनुमान लगाना बहुत जल्दबाजी होगी कि मॉनसून केरल तट पर तय कार्यक्रम से पहले दस्तक देगा या नहीं। केरल में मॉनसून के दस्तक देने की समान्य तारीख 1 जून है, जिसे भारत में मॉनसून के आधिकारिक रूप से आगमन की तारीख माना जाता है।

रमेश ने बताया कि मौजूदा परिस्थितियों से यह संभावना नहीं बनती कि मॉनसून के अंडमान निकोबार द्वीप समूह जल्द पहुंचने के चलते यह समय से पहले केरल में भी दस्तक दे सकता है। दक्षिण पश्चिम मॉनसून के अंडमान निकोबार द्वीप समूह पहुंचने की सामान्य तारीख 17 मई है।

निजी मौसम पूवार्नुमान एजेंसी स्काईमेट के मुख्य मौसम विज्ञानी महेश पालवत ने कहा कि मॉनसून के 1 जून से एक या दो दिन आगे पीछे केरल पहुंचने की संभावना है। मौसम विभाग ने कहा कि अगले 72 घंटों में दक्षिण पश्चिम मॉनसून के बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पूर्व के और अधिक हिस्सों, अंडमान सागर के शेष हिस्से, अंडमान और निकोबार द्वीप समूहों और बंगाल की खाड़ी के पूर्व – मध्य हिस्से में आगे बढ़ने के लिए अनुकूल परिस्थितियां हैं।

Mansoon reached Andaman and Nicobar Islands

 
 

Related posts

Top