ममता का मोदी पर तंज, ‘एक्सपायरी पीएम के साथ मंच नहीं साझा करना चाहती’

 

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से आए फोन का जवाब न देने पर सफाई दी है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज करते हुए यह भी कहा कि वह एक्सपायरी प्रधानमंत्री के साथ मंच नहीं साझा करना चाहती हैं। पीएम मोदी के आरोप पर ममता ने एक रैली के दौरान कहा, ‘मैं खड़गपुर में थी इसलिए चक्रवात फोनी के संबंध में प्रधानमंत्री का फोन आने पर उनसे बात नहीं कर पाई।’

ममता ने इसके बाद पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा, ‘चुनाव हो रहे हैं, ऐसे में मैं एक्सपायरी प्रधानमंत्री के साथ मंच साझा नहीं करना चाहती।’ बता दें कि प्रधानमंत्री कार्यालय से जुड़े सूत्रों ने कहा था कि फोनी तूफान के बाद पीएम मोदी ओडिशा की तरह पश्चिम बंगाल में भी सीएम के साथ हवाई दौरा और अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करना चाहते थे। इसके लिए अधिकारिक तौर पर अधिकारियों के साथ मीटिंग के लिए राज्य सरकार को पत्र भी लिखा गया था, लेकिन राज्य सरकार ने अधिकारियों के चुनाव में व्यस्त होने की बात कहकर मीटिंग कराने से इनकार कर दिया।

 

पीएम मोदी ने ममता बनर्जी पर लगाया घटिया राजनीति का आरोप
इससे पहले पीएम ने ममता बनर्जी पर चक्रवात फोनी पर घटिया राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने आपदा के बारे में जानने के लिए मुख्यमंत्री को फोन किया लेकिन उन्होंने बात नहीं की। मोदी ने एक चुनावी रैली में कहा था, ‘मैं बस ओडिशा में चक्रवात फोनी आने के बाद की स्थिति का आकलन कर आया हूं। मैं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से भी इसपर बात करना चाहता था। मैंने उन्हें फोन किया लेकिन दीदी में बहुत अभिमान है। उन्होंने मुझसे बात नहीं की। मैंने उनके कॉल का इंतजार किया लेकिन उन्होंने वापस फोन नहीं किया।’

‘स्पीड ब्रेकर दीदी को राजनीति में दिलचस्पी ज्यादा’
पीएम मोदी ने इस दौरान आरोप लगाया, ‘स्पीडब्रेकर दीदी को राजनीति करने में ज्यादा दिलचस्पी है। मैं राज्य अधिकारियों से इस पर बात करना चाहता था लेकिन राज्य सरकार ने ऐसा होने नहीं दिया।’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘बंगाल में स्थिति ऐसी है कि जय श्री राम कहने पर ही आप जेल की सलाखों के पीछे पहुंच जाएंगे।’

पीएम ने ओडिशा का किया दौरा
पीएम मोदी ने आज तूफान से सबसे ज्यादा प्रभावित ओडिशा का दौरा किया और सीएम नवीन पटनायक के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता भी की। इस दौरान पीएम ने इस भीषण तूफान से मुकाबले के लिए सीएम नवीन पटनायक सहित यहां के लोगों की प्रशंसा भी की। साथ ही उन्होंने 1000 करोड़ रुपये की मदद का भी ऐलान किया। पीएम ने बताया कि इस भीषण तूफान की तबाही से निकालकर सूबे को पटरी पर लाने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से पहले भी 381 करोड़ रुपये की मदद दी जा चुकी है।

ये भी पढ़े>>इवेंट में पहुंचने के लिए Tiger Shroff को लेना पड़ा वीलचेयर का सहारा

 
 
Tags

Related posts

Top