Apply for Journalist

किडनी कांड: मास्टरमाइंड अमित राउत की पत्नी को सीबीआई ने देहरादून से पकड़ा, ऐसे किया था फ्रॉड 

 
arrest

देहरादून: कुख्यात किडनी सरगना अमित राउत की पत्नी बुलबुल कटारिया को सीबीआई चंडीगढ़ की टीम ने देहरादून से गिरफ्तार किया है। बुलबुल पर आरोप है कि उसने चंडीगढ़ सीबीआई कोर्ट में झूठे प्रमाणपत्र दाखिल किए हैं।

इस पर न्यायालय ने उसके खिलाफ सात मई को गैर जमानती वारंट जारी किए थे, जिसके बाद से वह देहरादून में छिपी हुई थी। बुलबुल की गिरफ्तारी की सीबीआई के अधिकारिक सूत्रों ने पुष्टि की है। उसे रविवार को चंडीगढ़ में ड्यूटी मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया।

अमित राउत के खिलाफ देश के कई शहरों में मुकदमे दर्ज हैं। इनमें से ही एक मुकदमा चंडीगढ़ स्थित सीबीआई की स्पेशल क्राइम ब्रांच में 2012 में दर्ज किया गया था। किडनी की अवैध खरीद फरोख्त से जुड़े इस मुकदमे में अमित राउत के अलावा जीवन राउत और उसकी प्रेमिका (अब पत्नी) बुलबुल कटारिया भी नामजद है।

इस मुकदमे का फिलहाल ट्रायल चल रहा है। सात मई को इस मुकदमे की सुनवाई थी, जिसमें बुलबुल कटारिया को उपस्थित होना था, मगर बुलबुल ने देहरादून में बना अपना मेडिकल सर्टिफिकेट कोर्ट में भेज दिया था। न्यायालय ने जब सर्टिफिकेट की जांच कराई तो यह फर्जी पाया गया।

बुलबुल कई सुनवाई के दौरान न्यायालय में उपस्थित नहीं हुई थी, लिहाजा न्यायालय ने उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया। सूत्रों के मुताबिक तभी से सीबीआई उसके पीछे लगी थी।

कई बार देहरादून में आकर छापा भी मारा गया, लेकिन बुलबुल हाथ नहीं आ रही थी। सूत्रों के मुताबिक इसी बीच शनिवार को सुबह 11.30 एक होटल से बुलबुल कटारिया को गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि, सीबीआई की स्थानीय ब्रांच ने इसकी पुष्टि नहीं की है। जबकि, चंडीगढ़ के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर इस कार्रवाई की पुष्टि की है।

चोट घुटने में, कोहनी का सर्टिफिकेट 
बुलबुल कटारिया ने न्यायालय ने सर्टिफिकेट दाखिल किया था कि उसकी कोहनी में चोट है, लिहाजा डॉक्टर ने उसे बेडरेस्ट के लिए बोला है। यह सर्टिफिकेट दून के एक ऑर्थोपेडिक्स सर्जन का बनाया हुआ है। सर्टिफिकेट तो कोहनी का है, लेकिन जांच में पाया गया है कि बुलबुल ने घुटने पर प्लास्टर लगवाया है।

अमित की तीसरी पत्नी है बुलबुल 
बुलबुल कटारिया किडनी सरगना की तीसरी पत्नी है। बुलबुल से अमित राउत ने 25 मार्च 2015 को चंडीगढ़ के एक मंदिर में शादी की थी। अमित की एक पत्नी कनाडा में और एक मुंबई में रह रही है।

फरार चल रहा है अमित का बेटा अक्षय
अमित राउत का नाम देहरादून में लालतप्पड़ स्थित एक अस्पताल में किडनी के अवैध रूप से प्रत्यारोपण करने के मामले में भी आया था। सितंबर 2017 में सामने आए इस मामले में पुलिस ने अमित और उसके कई साथियों व एजेंटों को गिरफ्तार किया था। इस मामले में लगभग सभी गिरफ्तारियां हो चुकी हैं, लेकिन मुख्य आरोपियों में से एक अमित का बेटा अक्षय राउत अब भी फरार है।

 

 
 

Related posts

Top