कश्मीरः प्रधान सचिव ने दिया 2016 की घटना का हवाला, कहा- हमने लोगों की जिंदगियां बचाईं

 
जम्मू-कश्मीर योजना आयोग के प्रधान सचिव ने स्वतंत्रता दिवस पर होने वाले समारोह को लेकर जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के सभी जिलों में ड्रेस रिहर्सल चल रहा है, स्वतंत्रता दिवस समारोह भव्य तरीके से मनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के विभिन्न हिस्सों में बकरीद का पर्व शांतिपूर्ण मनाया गया। साथ ही उन्होंने बताया कि जम्मू क्षेत्र लगभग पूरी तरह से प्रतिबंधों से मुक्त है, लेकिन कश्मीर के कुछ हिस्सों में प्रतिबंध जारी हैं।

जम्मू-कश्मीर में लगाए गए प्रतिबंधों पर उन्होंने कहा कि हमने 2008 और 2016 में भी राज्य में गड़बड़ी देखी है। 2016 में एक सप्ताह में 37 मौतें हुई थीं। लेकिन पिछले एक हफ्ते में एक भी दुर्घटना नहीं हुई है। साथ ही कहा कि कम से कम और उचित प्रतिबंध लगाकर हम लोगों की जिंदगी बचाने में सफल रहे हैं। साथ ही घाटी में कई ट्विटर अकाउंट बंद किये जाने पर उन्होंने कहा कि सभी फर्जी ट्विटर पर संज्ञान लिया गया है। कहा कि इनमें वह अकाउंट शामिल हैं जो घाटी की शांति व्यवस्था में खलल पैदा करते हैं। उन्होंने कहा कि इसे कानूनी स्तर पर, प्रक्रियात्मक रूप से और उचित तरीके से निपटाया जा रहा है।

आपको बता दें कि अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से जम्मू और कश्मीर में इंटरनेट सेवा, मोबाइल नेटवर्क सेवा बंद कर दी गई थी। जम्मू में मोबाइल नेटवर्क सेवा में पहले ही छूट दी जा चुकी है। लेकिन अभी कश्मीर के कई हिस्सों में प्रतिबंध पूर्व की तरह ही लागू हैं। बकरीद के त्योहार को देखते हुए कश्मीर में जारी प्रतिबंधों में छूट दी गई थी।
 
 

Related posts

Top