सीबीआई ने हाजी इकबाल के मकान पर मारा था छापा, जल्द हो सकती है गिरफ्तारी, ऐसे हुआ मालामाल

 

सहारनपुर में चीनी मिलें खरीदने के मामले में सीबीआई के छापे के बाद पूर्व एमएलसी हाजी मोहम्मद इकबाल के दोनों बेटों और अन्य आरोपियों पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है। जिस तेजी से सीबीआई की जांच चल रही है, उससे अनुमान लगाया जा रहा है कि जल्दी ही आरोपियों की गिरफ्तारी भी की जा सकती है।

सांसद हुकुम सिंह ने भी संसद में सवाल उठाया था। उन्होंने मोहम्मद इकबाल के पास 10 हजार करोड़ रुपये की संपत्ति को लेकर जांच कराने की मांग की थी। उस दौरान यही आरोप लगाए गए थे कि खनन के खेल में मोहम्मद इकबाल मालामाल होता गया। खनन का नेटवर्क सिर्फ सहारनपुर जनपद में नहीं, बल्कि पड़ोसी जनपद शामली तक फैला हुआ था। शामली के बिडौली में भी मोहम्मद इकबाल के लोगों ने खनन किया था, जहां काफी समय तक इनके रेत का स्टाक भी रहा। इसके अलावा सहारनपुर जनपद में बड़ी संख्या में स्टोन क्रशर हैं, तो मिर्जापुर, बेहट, सरसावा, गंगोह सहित विभिन्न इलाकों में खनन चलता रहा था। खनन के इस खेल में मोटी कमाई होती रही।

उधर, सहारनपुर के एक गांव के रहने वाले विश्वास कुमार ने भी अदालत में याचिका डाली थी, जिसके बाद एसएफआईओ ने जांच की थी और फिर 2017 में लखनऊ के गोमतीनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज हुई थी।

 
 

Related posts

Top