सेना कैंप पर आत्मघाती हमला, हेलिकॉप्टर से निगरानी, सेना का ऑपरेशन जारी | 24CityNews
CrickCash.Com

सेना कैंप पर आत्मघाती हमला, हेलिकॉप्टर से निगरानी, सेना का ऑपरेशन जारी

 
Need Reporters

जम्मू: जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर आतंकियों ने बड़ी करतूत को अंजाम दिया है. आतंकियों ने जम्मू के सुंजवां आर्मी कैंप को निशाना बनाया है. इस हमले में अब तक 3 जवानों के घायल होने की खबर है. साथ ही जवान की एक बेटी भी हमले में घायल बताई जा रही है.

ये आत्मघाती हमला तड़के सुबह 5 बजे के आसपास किया गया. शुरुआती जानकारी के मुताबिक, 3-4 आतंकी कैंप के पीछे के इलाके से जाली काटकर अंदर घुसे. इसके बाद उन्होंने गोलीबारी शुरू की. आतंकियों के इस हमले का क्विक रेस्पांस टीम ने भी जवाब दिया.

हमले के पीछे हो सकता है जैश ए मोहम्मद का हाथ
हालांकि, अभी तक आतंकियों को न्यूट्रलाइज किए जाने की खबर नहीं आई है. ताजा जानकारी के मुताबिक, ये सभी आतंकी आर्मी कैंप के रिहायशी इलाके में छिपे हुए हैं.

इंटेलिंजेंस सूत्रों के मुताबिक अफजल गुरू की बरसी को देखते हुए पूरे जम्मू कश्मीर में हाई अलर्ट घोषित किया गया था. खुफिया सूत्रों ने आत्मघाती हमले की आशंका जताई थी. इस हमले के पीछे जैश ए मोहम्मद का हाथ हो सकता है.

जम्मू-कश्मीर पुलिस के आईजी एसडी सिंह जामवाल ने आजतक को बताया कि आर्मी कैंप में सुबह करीब 4.55 बजे कुछ संदिग्ध गतिविधि देखी गईं. इसके बाद आतंकियों ने गार्ड्स के बंकर पर फायरिंग शुरू कर दी. उन्होंने बताया कि आतंकी आर्मी कैंप में फैमिली क्वार्टर की तरफ छिपे हुए हैं. फिलहाल, ऑपरेशन जारी है. हालांकि, कितने आतंकी हैं, इस पर अभी तस्वीर साफ नहीं हो पाई है. लेकिन बताया जा रहा है कि इनकी संख्या 3-4 हो सकती है.

जिस तरफ से आतंकी कैंप में घुसे हैं, वो रिहायशी इलाका है. यहां जवानों के रेसिडेंशियल कॉम्प्लेक्स हैं. सुंजवां आर्मी के पीछे की साइड ये पूरा एरिया है. जहां आतंकियों ने घुसपैठ की और जवानों को निशाना बनाया.

CRPF कैंप पर हुआ था हमला
बता दें कि इससे पहले 31 दिसंबर 2017 को आतंकियों ने पुलवामा में सीआरपीएफ कैंप को निशाना बनाया था. जैश के 2 आतंकियों ने अवंतिपुरा के लीथपोरा में अटैक किया था. इस अटैक में 5 जवान शहीद हो गए थे, जबकि घंटों गोलीबारी के बाद सुरक्षाबलों ने दोनों आतंकियों को ढेर कर दिया था.

Suicide attack on army camp

 
 
Top