गन्ना मिलो पर किसानो का 7,826 करोड़ रुपये बकाया, किसान पाई-पाई को मोहताज, सरकार आत्ममुग्ध | 24CityNews
CrickCash.Com

गन्ना मिलो पर किसानो का 7,826 करोड़ रुपये बकाया, किसान पाई-पाई को मोहताज, सरकार आत्ममुग्ध

 
Need Reporters

नई दिल्ली [दिग्विजय]: सरकार द्वारा गन्ना मिलो को दी जा रही राहत के बावजूद गन्ना मिले किसानो को गन्ने का भुगतान करने में कोताही बरत रही है. अब तक वर्तमान मौसम में गन्‍ने के मूल्‍य का बकाया एसएपी आधार पर 7,826 करोड़ रुपये हो गया है, हालांकि पिछले चीनी मौसम में इसी अवधि के दौरान यह बकाया राशि 8,982 करोड़ रुपये थी।

चीनी मौसम 2016-17 के लिए गन्‍ने के मूल्‍य का बकाया 52 करोड़ रुपये (एफआरपी आधार पर) अभी भी रह रहा है। गन्‍ने के 57,608 करोड़ रुपये भुगतान करने योग्‍य बकाये के विरूद्ध 1,076 करोड़ रुपये (एसएपी आधार पर) रहा।

जबकी चीनी मौसम 2015-16 के संबंध में 122 करोड़ रुपये (एफआरपी आधार पर) और 710 करोड़ रुपये (एसएपी आधार पर) बकाया हैं। सरकार द्वारा दी जा रही राहत का किसानो को कोई फायदा नहीं हो रहा है। सरकार के राहत पैकज सीधे तौर पर चीनी मिल मालिको को लाभ पंहुचा रहे है, जबकी किसान एक एक पाई को मोहताज हो रहे है। सरकार चीन मिल मालिको को राहत पॅकेज देकर आत्ममुग्ध हो रही है।

हालांकि सरकार का दावा है कि वर्तमान मौसम के दौरान गन्‍ने की पिराई जोरों से चल रही है और चीनी मिलें आने वाले दिनों में चीनी की बिक्री तथा अपने उप-उत्‍पादों से गन्‍ने के बकाया का भुगतान करने में सक्षम होंगी।

 

 

 
 
Top