सामने आया एक और यादव अरबपति इंजिनियर, अखिलेश सरकार में कमाई अकूत संपत्ति | 24CityNews


सामने आया एक और यादव अरबपति इंजिनियर, अखिलेश सरकार में कमाई अकूत संपत्ति

 

नोएडा: नोएडा में सिंचाई विभाग के सुपरिटेंडेट इंजिनियर राजेश्वर सिंह यादव के ठिकानों पर इनकम टैक्स के छापों में उनकी अकूत संपत्ति का पता चला है। जांच में इंजिनियर के 2 प्राइवेट स्कूल और 2 होटलों के बारे में पता चला है। सूत्रों के मुताबिक इंजिनियर ने अलग-अलग शेल यानी मुखौटा कंपनियों में भारी निवेश कर रखा है। इंजिनयर ने ज्यादातर निवेश अपने बेटे के नाम कर रखी है।

आयकर सूत्रों के मुताबिक, अखिलेश सरकार के दौरान राजेश्वर सिंह यादव की प्रॉपर्टी में तेजी से इजाफा हुआ। करोड़ों रुपये की कई संपत्तियों में निवेश किया। सरकार बदलने के बाद से आयकर विभाग की राजेश्वर सिंह यादव पर नजर थी। 6 महीने से गुपचुप निगरानी रखी जा रही थी। अवैध तरीके से संपत्ति बटोरे जाने की सूचनाएं पुष्ट हो जाने के बाद एक साथ छापेमारी का फैसला किया गया और वरिष्ठ अफसरों से स्वीकृति लेकर इन्वेस्टिगेशन विंग के प्रिंसिपिल डायरेक्टर अमरेंद्र कुमार के नेतृत्व में रेड शुरू कर दी गई।

7 शहरों में 22 ठिकानों पर एक साथ आईटी के छापे
इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की 19 टीमों ने शुक्रवार सुबह एक साथ 7 शहरों में यादव के 22 ठिकानों पर छापा मारा था। छापे में अरबों की संपत्ति के दस्तावेज, नकदी और जेवरात जब्त किए गए। जानकारी के मुताबिक, इन्वेस्टिगेशन विंग के प्रिंसिपल डायरेक्टर अमरेंद्र कुमार, जॉइंट डायरेक्टर एम. के. जैन और डेप्युटी डायरेक्टर सुनील कुमार यादव के नेतृत्व में नोएडा-गाजियाबाद की 19 टीमें बनाकर उन्हें शुक्रवार सुबह 6 बजे सेक्टर 24 आयकर भवन में बुलाया गया। वहां पर शॉर्ट ब्रीफिंग के बाद सभी टीमों को रेड के लिए रवाना कर दिया गया। इस दौरान पीएसी के 4-4 हथियारबंद जवान भी सुरक्षा के लिए सभी टीमों के साथ भेजे गए। टीमों ने नोएडा, गाजियाबाद, दिल्ली, गुड़गांव, फरीदाबाद, आगरा और एटा में बने राजेश्वर सिंह यादव के घर और नजदीकी परिचितों के 22 ठिकानों पर तलाशी अभियान शुरू किया।

2 स्कूलों और होटल में भी लगाया था पैसा
सूत्रों के मुताबिक, राजेश्वर सिंह यादव अपनी पत्नी, बेटे, बहू और पोते के साथ नोएडा सेक्टर-44 स्थित पर्ल गेटवे टावर के जे-702 नंबर फ्लैट में मौजूद थे। आयकर विभाग की टीम ने छापेमारी के दौरान उनके मोबाइल फोन भी जब्त करवा लिए। सूत्रों के मुताबिक जांच में टीम को नोएडा सेक्टर-51 में चल रहे एलपीएस ग्लोबल स्कूल, 29 में चल रहे लिटिल पर्ल स्कूल, यूपी के एटा और आगरा में होटल और कई शेल कंपनियों में करोड़ों रुपये के निवेश का पता चला है। बता दें कि इससे पहले नोएडा में जांच एजेसियों ने नोएडा अथॉरिटी के चीफ इंजिनियर यादव सिंह के ठिकानों पर छापेमारी की थी, जिसमें अरबों रुपये की काली कमाई का खुलासा हुआ था।

 

 

 
 
Top