भीम आर्मी के संस्थापक रावण की जमानत अर्जी मंजूर, लेकिन जेल से बाहर आने में लग सकता है वक्त | 24CityNews


भीम आर्मी के संस्थापक रावण की जमानत अर्जी मंजूर, लेकिन जेल से बाहर आने में लग सकता है वक्त

 

सहारनपुर। उ.प्र. के जनपद सहारनपुर को जातीय हिंसा में झोंकने के कथित आरोपी भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर उर्फ रावण को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जमानत दे दी है, परंतु अभी कई मामले विचाराधीन होने के चलते चंद्रशेखर उर्फ रावण को जेल से बाहर आने में वक्त लग सकता है।

उल्लेखनीय है कि भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर उर्फ रावण के खिलाफ सहारनपुर में जातीय हिंसा के आरोप के मामले में कई संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा गया था जो जिला कारागार में बंद था।

एक सप्ताह पूर्व चंद्रशेखर उर्फ रावण की तबीयत बिगडऩे पर उसे जिला अस्पताल के हृदय रोग विभाग में भर्ती कराया गया था, जहां विशेषज्ञ चिकित्सकों की देखरेख में चंद्रशेखर का इलाज चल रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार चंद्रशेखर उर्फ रावण की जमानत अर्जी पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अभी तक एक मुकदमे में जमानत दी है, जबकि जातीय हिंसा की घटना के मुख्य आरोपी चंद्रशेखर पर लगभग आधा दर्जन मुकदमें दर्ज हैं। इसके चलते जेल से बाहर आने के लिए चंद्रशेखर को अन्य मुकदमों में भी अपनी जमानत अर्जी डालनी होगी।

इस सम्बंध में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार ने चंद्रशेखर उर्फ रावण की जमानत अर्जी इलाहाबाद उच्च न्यायालय द्वारा स्वीकृत किए जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि उनके पास अभी तक एक मुकदमे में जमानत मिलने की सूचना है।

यहां यह भी उल्लेखनीय है कि सहारनपुर पुलिस ने चंद्रशेखर उर्फ रावण को विगत 8 जून को हिमाचल प्रदेश के डलहौजी से गिरफ्तार किया था। जबकि भीम आर्मी से जुड़े अन्य आरोपियों को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी, लेकिन भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर की गिरफ्तारी नहीं हो पा रही थी। इसके लिए पुलिस को आलोचनाओं का शिकार भी होना पड़ा था।

 

 
 
Top